चक्रवात यास से टूटे पेड़, कई घर तबाह, तटीय इलाकों में सेना ने संभाला मोर्चा

नई दिल्लीः गंभीर चक्रवात तूफ़ान यास ओडिशा के तट से टकरा गया है।इसकी वजह से कई इलाकों में तेज हवाएं और भारी बारिश हो रही है। कई जगहों पर पेड़ों के उखड़ने की तस्वीर भी देखने को मिली है। यास की वजह से पश्चिम बंगाल में तट के कई किमी दूर तक दूकानों और घरों में पानी भर गया है।इतना ही नहीं कई जगहों पर पेड़ भी उखड़ गए हैं। मौसम विभाग ने बंगाल व ओडिशा के लिए रेड अलर्ट जारी किया है।

cyclone yaas
cyclone yaas

बचाव के लिए तैयारियां तेज

चक्रवात से खतरे को देखते हुए बंगाल और ओडिशा में 12 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। झारखंड, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और अंडमान निकोबार द्वीप में भी बचाव के लिए तैयारियां तेज कर दी गई हैं। मौसम विभाग ने बताया कि चक्रवात यास ने आज सुबह 10:30 बजे से 11:30 बजे के बीच बालासोर से लगभग 20 किमी दक्षिण में उत्तर ओडिशा तट को पार किया। इस दौरान हवा की गति 130-140 किमी प्रति घंटे से 155 किमी प्रति घंटे रही।

Corona Update : देश में फिर बढ़े कोरोना मामले, बीते 24 घंटे में 2 लाख नए केस

cyclone yaas
cyclone yaas

मौसम विभाग की चेतावनी

इसके बाद तूफ़ान उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ गया।आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि कल सुबह यास झारखंड पहुंचेगा तब इसके हवा की गति 60-70 किलोमीटर प्रति घंटे होगी। ओडिशा के अंदर के जिलों में भी हवा की गति 60-70 किलोमीटर प्रति घंटे रहेगी। तूफान बालेश्वर के दक्षिण में ओडिशा तट को पार कर रहा है। अभी इसके हवा की गति 130-140 किलोमीटर प्रति घंटे है। लैंडफॉल प्रक्रिया अभी चल रही है जो 3 घंटे में पूरी होगी। इसके बाद ये कमजोर होकर उत्तर पश्चिम दिशा में गति करेगा।

 

Leave a comment

Your email address will not be published.