भारतीय तटों से टकराने वाला है यह चक्रवाती तूफ़ान, इन राज्यों में मचाएगा तबाही

first-cyclone-of-2021-likely-to-form-over-arabian-sea-name-tauktae-know-when-and-where-will-cyclone-knock
first-cyclone-of-2021-likely-to-form-over-arabian-sea-name-tauktae-know-when-and-where-will-cyclone-knock

नई दिल्ली : अरब सागर के ऊपर बन रहे हवा के कम दबाव के चलते गुजरात, केरल समेत देश के पांच राज्यों पर चक्रवाती तूफान टॉक्टे का खतरा पैदा हो गया है। यह तूफान 18 मई को भारतीय तटों से टकराने की आशंका है। इससे भारी नुकसान का अंदेशा भी है। राहत और बचाव के उपाय अभी से शुरू हो गए है। प्रभाव की आशंका वाले पांच राज्यों में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) के 53 दल तैनात कर दिए गए हैं। प्रत्येक दल में पेड़ व बिजली के खंभे काटने, बोट और बचाव-चिकित्सा के उपकरणों से लैस 40 जवान हैं।

first-cyclone-of-2021-likely-to-form-over-arabian-sea-name-tauktae-know-when-and-where-will-cyclone-knock
first-cyclone-of-2021-likely-to-form-over-arabian-sea-name-tauktae-know-when-and-where-will-cyclone-knock

मौसम विभाग ने दी जानकारी

तूफान की आशंका वाले प्रदेशों और लक्षद्वीप के लिए भारतीय मौसम विभाग ने आने वाले दिनों के दृष्टिगत दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं। मौसम विभाग के अनुसार अरब सागर के ऊपर बना कम दबाव का क्षेत्र शनिवार सुबह तक बढ़ने की आशंका है। इसके बाद 24 घंटे के भीतर यह चक्रवाती तूफान में तब्दील हो सकता है। 16 से 19 मई के बीच यह भयंकर तूफान का रूप लेकर भारी बर्बादी कर सकता है। यह तूफान 18 मई को भारतीय तटों से टकराने की आशंका है। सबसे पहले इसके गुजरात के तटीय इलाकों से टकराने के आसार हैं। इससे पहले लक्षद्वीप में 15 मई को भारी बारिश की आशंका है।

Weather : पश्चिमी विक्षोभ का फिर होगा असर, बारिश, तूफ़ान सहित होगी ओलावृष्टि

बारिश का अलर्ट

इसी दौरान तमिलनाडु के तटीय इलाकों में हल्की और भारी बारिश हो सकती है। कर्नाटक में 15 और 16 मई को हल्की और भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। इसी दौरान कोंकण के तटीय इलाकों और गोवा में भारी बारिश हो सकती है। जबकि गुजरात के सौराष्ट्र और कच्छ इलाके में 17 और 18 मई को भारी बारिश और तेज हवाएं चल सकती हैं।

चलेंगी तूफानी हवाएं

तूफान आने से पहले और इसके दौरान देश के तटवर्ती इलाकों में 175 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार वाली तेज हवाएं चल सकती हैं और तेज बारिश हो सकती है। सभी राज्य सरकारों और लक्षद्वीप के प्रशासन को राहत और बचाव के उपाय करने के लिए कहा गया है। पर्यटकों और मछुआरों को इस दौरान समुद्र से दूर रहने के लिए कहा गया है।

इन राज्यों में टकराएगा तूफ़ान

राज्य सरकारों को तटीय इलाकों में बसी आबादी को अन्यत्र भेजने की सलाह दी गई है। मौसम विभाग की चेतावनी के मद्देनजर केरल सरकार ने तिरुअनंतपुरम, कोल्लम, पथनामथिट्टा, अलप्पुझा और एर्नाकुलम जिलों में भारी बारिश की आशंका वाला रेड अलर्ट घोषित कर दिया है। जबकि एनडीआरएफ ने तटवर्ती नौ जिलों में अपने इंतजाम किए हैं। टॉक्टे म्यांमार में छिपकली की पाई जाने वाली एक प्रजाति है। वहां से पैदा चक्रवाती तूफान को यह नाम दिया गया है। अरब सागर के जरिये भारतीय तटों से टकराने वाला यह इस वर्ष का पहला तूफान होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *