शादी में जाने से फैला कोरोना, 7 लोगो की मौत

coronavirus community spread
coronavirus community spread

नई दिल्ली: भारत के साथ-साथ दुनिया के कई देशों में शादी समारोह से कोरोना फैलने के मामले सामने आ चुके हैं। लेकिन कोरोना वायरस की वजह से एक ऐसे शादी की काफी अधिक चर्चा हो रही है जिसकी वजह से 177 लोगों में वायरस फैल गया और 7 लोगों की मौत हो गई। लेकिन इस शादी में सिर्फ 55 लोग शामिल हुए थे।

एक शादी से कोरोना के मामले बढ़ने और फिर 7 लोगों की मौत की ये घटना अमेरिका के ‘मेन’ नाम के राज्य की है। मेन राज्य के एक छोटे से शहर में यह शादी आयोजित की गई थी। इस शादी से कोरोना फैलने की स्टडी अमेरिका की स्वास्थ्य संस्था सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल ने की है।

शादी में आए व्यक्ति में कोरोना के लक्षण                                                                                                     

शादी 7 अगस्त को आयोजित हुई थी। अगले दिन समारोह में शामिल हुए एक व्यक्ति में कोरोना का लक्षण मिला। इसके बाद शादी में शामिल हुए कुल 55 लोगों में से 27 संक्रमित पाए गए। कथित तौर से शादी में शामिल हुए लोगों ने मास्क नहीं पहने थे और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया था। हालांकि, लोगों के तापमान की जांच की गई थी।

coronavirus spread
coronavirus spread

शादि के बाद 27 लोग कोरोना संक्रमित 

शादी के बाद स्थानीय कम्युनिटी में कोरोना के 27 मामले सामने आए और इनमें से एक व्यक्ति की मौत हो गई। वहीं, शादी में शामिल एक गेस्ट अगले दिन अपने पिता से मिलने गया। उसके पिता स्वास्थ्यकर्मी हैं। वह भी कोरोना से बीमार हो गए और वे जिस केयर होम में काम कर रहे थे, वहां के 38 स्टाफ और अन्य लोग संक्रमित हो गए। ये लोग शादी समारोह से करीब 160 किमी दूर रहते थे। इनमें से 6 लोगों की मौत हो गई और इनमें से कोई भी व्यक्ति शादी में नहीं गया था।

जेल में काम कर रहे व्यक्ति से 60 से ज्यादा लोगो में कोरोना फैला

एक अन्य गेस्ट शादी समारोह से 320 किमी दूर जेल में काम करता था। शादी के एक हफ्ते बाद इस व्यक्ति में संक्रमण के लक्षण मिले। हालांकि, वह जेल में काम करता रहा। इसकी वजह से 18 स्टाफ और 48 कैदियों में कोरोना फैल गया। स्टाफ के परिवार के 16 लोग भी संक्रमित हो गए। शादी में शामिल हुए गेस्ट की लिस्ट या तो नहीं बनाई गई थी या फिर अधिकारियों को नहीं दी गई। इसकी वजह से यह भी समझा जाता है कि सीडीसी कम ही मामलों का पता लगा सकी।

Leave a comment

Your email address will not be published.