Corona : कितना खतरनाक है डेल्टा प्लस वेरियंट ? क्या हैं इस नए वैरिएंट के लक्षण? जानें

Covid-Delta-Variant
Covid-Delta-Variant

नई दिल्लीः Corona वायरस के डेल्टा प्लस वेरिएंट को लेकर इस समय पूरी दुनिया में खौफ फैला हुआ है देश में एक ओर जहां पिछले कुछ समय से कोविड-19 के मामलों में कमी आई है। वहीं नए वैरिएंट डेल्टा प्लस ने सरकार और लोगों की चिंताएं और बढ़ा दी हैं। इसे भारत सरकार ने भी वैरिएंट ऑफ कंसर्न यानी चिंताजनक वैरिएंट के रूप में वर्गीकृत किया है। वहीं WHO भी मान चुका है कि कोरोना का ये रूप बेहद खतरनाक है। इसके कुछ हल्के से लेकर गंभीर लक्षण हैं जिन्हें हम भूलकर भी हल्के में लेने की कोशिश न करें।

Jio 5G phone-JIO 5G फ़ोन हो रहा है लांच , मोबाइल मार्केट में होगा कुछ नया

Corona डेल्टा प्लस वैरिएंट

काफी खतरनाक डेल्टा प्लस वैरिएंट दुनिया के 80 से अधिक देशों में फैल चूका है। इस वेरियंट का सबसे पहला केस इसी साल मार्च महीने के आखिर में यूरोप में पाया गया था। यह वायरस सुपर-स्प्रेडर है जिसका मतलब है कि यह आसानी और बहुत तेजी से फैल सकता है। यही वजह है कि भारत सरकार ने भी इसे वैरिएंट ऑफ कंसर्न यानी चिंताजनक वैरिएंट कहा है वहीं माना जा रहा है। कि यह भारत में कोरोना की तीसरी लहर आने का कारण बन सकता है।

नए वैरिएंट के लक्षण ?

डेल्टा प्लस वैरिएंट के सामान्य लक्षणों में सूखी खांसी, बुखार और थकान शामिल हैं। वहीं यदि इसके गंभीर लक्षणों की बात करें तो इसमें सीने में दर्द होना, सांस लेने में तकलीफ और बात करने में तकलीफ होना शामिल हैं। साथ ही इसके कारण त्वचा पर चकत्ते पड़ना, पैर की उंगलियों के रंग में बदलाव आना, गले में खराश, स्वाद और गंध का पता न चलना, दस्त और सिरदर्द शामिल है।

डेल्टा प्लस देश में कहाँ-कहाँ पाया गया है ?

देश के अब तक 11 राज्यों में डेल्टा प्लस वैरिएंट के मामले सामने आ चुके हैं। जिनमें महाराष्ट्र, केरल, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, पंजाब, जम्मू कश्मीर, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, शामिल हैं। इनमें सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में सामने आए हैं। देश में अब तक इसके 48 मामले सामने आ चुके हैं। इसके साथ ही यह वायरस दुनिया के करीब 9 देशों में फैल चुका हैं।

डेल्टा प्लस में वैक्सीन कितनी कारगर ?

वैज्ञानिकों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों की उम्मीद है की इस वेरियंट में एक वैक्सीन कारगर है। स्वास्थ्य मंत्रालय का भी मानना है कि भारत में उपलब्ध दोनों प्रमुख वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सिन दोनों ही इस नए वैरिएंट के प्रति कारगर हैं।

 कैसे करें बचाव ?

Corona से बचने के लिए शुरू से जिन बातो का ज़िक्र किया जा रहा है। वही बुनियादी बाते डेल्टा प्लस में भी कारगर हैं जैसे मास्क लगाएं, लोगों से जरुरी दूरी बना कर रखें, साफ-सफाई का ध्यान रखें, बार-बार हाथ धोएं और सैनिटाइज़र का प्रयोग करें। साथ ही अपनी बारी आने पर वैक्सीन जरूर लगवाएं। इससे न केवल आप अपनी साथ ही अपनों की सुरक्षा भी सुनिश्चित कर सकते हैं।

https://www.youtube.com/watch?v=XmVxzDVwlcA

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *