Corona Case: लॉकडाउन के डर से स्टेशनों पर बढ़ रही है भीड़, रेलवे ने चेताया

Corona Case
Corona Case

नई दिल्ली(Corona Case): देश में बढ़ते कोरोना के मामले सबको डराने लगे है। लोगों को लॉकडाउन की चिंता सता रही है। वायरस के बढ़ते मामलों को लेकर राज्य सरकारों के प्रतिबंध लगाने के बाद रेलवे स्टेशनों पर भीड़ भी काफी देखी जा रही है। कई राज्यों से प्रवासी मजदूर वापस अपने शहरों और गांवों की ओर लौट रहे हैं। इस बीच मध्य रेलवे ने लोगों से अपील की है कि वे पैनिक न करें और जरूरत पड़ने पर अतिरिक्त ट्रेनें चलाई जाएगी।

Corona Case
Corona Case

मध्य रेलवे के मुख्य पीआरओ शिवाजी एम सूतर ने ट्विटर पर बताया कि आवश्यकता के अनुसार अतिरिक्त ट्रेनें चलाई जा रही हैं।

Corona Update : सीएम योगी आदित्यनाथ की कोरोना को लेकर नई गाइडलाइंस जारी

90 मिनट पहले स्टेशन पहुंचे

उन्होंने ट्वीट किया, “लोगों से अनुरोध है कि वे पैनिक न करें और स्टेशनों की ओर भीड़ न करें। रेलवे वेटिंग लिस्ट पर लगातार निगाह रखा हुआ है, जैसी आवश्कता होगी अतिरिक्त स्पेशल ट्रेने चलाई जाएंगी। यात्रियों से अपील है कि वे केवल गाड़ी प्रस्थान से 90 मिनट पहले ही स्टेशन पहुंचे”

पैनिक होने की कोई जरूरत नहीं है

उन्होंने कहा कि गर्मी के मौसम की वजह से रेलवे स्टेशन पर सामान्य भीड़ है। लोगों से अनुरोध है कि किसी भी तरह का डर ना फैलाएं। उन्होंने कहा, “लोगों को पैनिक होने की कोई जरूरत नहीं है। गर्मी की छुट्टियों में हर साल होने वाली यह रूटीन भीड़ है। हम कोरोना के सभी नियमों का पालन कर रहे है।लोग परेशान न हो, अतिरिक्त समर स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही है”

ट्रेनों को रोकने की योजना नहीं

पिछले शुक्रवार को रेलवे ने कहा था कि उसकी रेल सेवाओं को रोकने या रेलगाड़ियों को कम करने की कोई योजना नहीं है और साथ ही उसने यात्रियों को जरूरत पड़ने पर अधिक रेलगाड़ियां चलाए जाने का आश्वासन दिया था। रेलवे ने यह बयान कई जगहों से प्रवासी मजदूरों के घर लौटने की खबरों के बीच दिया था। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने यात्रियों को आश्वासन दिया था कि ट्रेनों की कोई कमी नहीं होगी और रेलवे मांग बढ़ते ही कम समय में अतिरिक्त ट्रेनों की व्यवस्था करेगा। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ने यात्रियों से कोरोना वायरस जांच की निगेटिव रिपोर्ट मांगने की बात भी खारिज की थी।

क्या कोरोना के चलते टल जाएंगे बोर्ड़ के एग्जाम ?

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *