यूपी पंचायत चुनाव – जिले में प्रत्याशियों को जिताया तो मिलेगी विधानसभा की टिकट

panchayat-elections update
panchayat-elections update

नई दिल्ली : चार चरणों में होने वाले यूपी के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (UP Panchayat Chunav 2021) इस बार सभी दलों के लिए किसी लिटमस टेस्ट से कम नहीं हैं. 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले पंचायत चुनावों को सत्ता के सेमीफइनल की तरह देखा जा रहा है. यही वजह है कि प्रदेश की सभी प्रमुख सियासी पार्टियों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. इस बार का पंचायत चुनाव इसलिए भी खास है क्योंकि बीजेपी, सपा, बसपा और कांग्रेस के साथ ही आम आदमी पार्टी और असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम भी मैदान में हैं. सभी पार्टियों की कोशिश है कि वे 2022 से पहले पंचायत चुनाव के जरिए जनता को एक संदेश भेज सके.

panchayat-elections update
panchayat-elections update

UP पंचायत चुनाव में वोटरों तक पहुंचाई शराब तो होगी ये बड़ी कार्रवाई

पंचायती चुनाव पर मंथन

माल एवन्यू स्थित पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर कांग्रेस के ब्लू प्रिंट पर मंथन हुआ। इस मौके पर श्री लल्लू ने कहा कि कांग्रेस पंचायत चुनावों में बड़ी संख्या में सीटें जीत कर आएगी। इसका आधार पूर्व में पार्टी द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के लिये किया गया काम होगा।

विधानसभा टिकट का प्रस्ताव

सभी शहर अध्यक्ष एवं ज़िला अध्यक्ष,प्रादेशिक पदाधिकारी समेत फ्रंटल संगठनों के अध्यक्षों की मौजूदगी में श्री लल्लू ने कहा कि हर संभावित विधानसभा प्रत्याशी को अपने विधानसभा से कम से कम 3-3 पंचायत सदस्य जिता कर लाना होगा। यही टिकट का आधार बनेगा।

बैठक में तय किया गया कि कांग्रेस पूरी ताकत से चुनाव लड़ेगी और पुरानी ज़मीन को वापस पाने के लिए जीतोड़ मेहनत करेगी। प्रदेश के उपाध्यक्ष और महासचिव की ज़िम्मेदारी तय की जायेगी। 45 साल से कम उम्र के लोगो को टिकट देकर कांग्रेस अपनी नई ज़मीन तैयार करेगी औ युवाओं पर विशेष फोकस रहेगा। विधानसभा क्षेत्र में प्रभावशाली लोगों से चुनाव में मशवरा किया जायेगा। प्रदेश स्तर पर पंचायत चुनाव की मॉनिटरिंग के लिए कंट्रोल रूम बनाया जायेगा। विधानसभा चुनाव के टिकट को पंचायत चुनाव तय करेंगे। हर संभावित कैंडिडेट को पूरी ताकत से पंचायत चुनाव लड़ाना चाहिए।

गाँव गाँव जायेंगे कार्यकर्त्ता

उन्होने कहा कि काले कृषि कानून, महंगाई, कृषि लागत के बढ़ते दाम, आसमान छूती बेरोजगारी और बढ़ती महिला हिंसा और बलात्कार की घटनाओं को लेकर चुनाव में जाएंगे। इसके अलावा कार्यकर्ता राष्ट्रीय महासचिव व प्रभारी उत्तर प्रदेश प्रियंका गांधी के संदेश को लेकर गांव गांव जाएंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *