भारत-चीन बॉर्डर पर फिर झड़प, भारत के 4 और चीन के 20 सैनिक घायल

भारत-चीन बॉर्डर पर फिर झड़प, भारत के 4 और चीन के 20 सैनिक घायल

नई दिल्ली: भारत और चीन में तनाव के बीच एक बड़ी खबर आ रही है। चीन ने एक बार फिर से वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर यथास्थिति को बदलने की कोशिश की।

भारत-चीन बॉर्डर पर फिर झड़प, भारत के 4 और चीन के 20 सैनिक घायल

बताया जा रहा है कि चीनी सैनिक भारतीय इलाके की तरफ बढ़ने की कोशिश कर रहे थे। जिसके बाद सिक्किम बॉर्डर के नजदीक ना कूला के पास दोनों देशों की सेनाओं के बीच झड़प हो गई। जिसमें 20 चीनी सैनिक घायल हुए हैं। तीन दिन पहले हुई इस झड़प में भारतीय सेना के 4 जवान भी घायल हुए हैं।

भारत और चीन के बीच कल ही हुई थी नौवें दौर की वार्ता-

भारतीय जवानों ने फिलहाल मौके से चीनी सैनिकों को खदेड़ दिया है। मगर स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है कि चौकियों पर कड़ी चौकसी बरती जा रही है।उल्लेखनीय है कि करीब ढाई महीने के अंतराल के बाद कल ही भारत और चीन की सेनाओं के बीच कोर कमांडर स्तर की नौवें दौर की वार्ता हुई थी। इसका उद्देश्य पूर्वी लद्दाख में टकराव वाले सभी स्थानों से सैनिकों को हटाने की प्रक्रिया पर आगे बढना था।

50,000 जवान युद्ध की तैयारियों के साथ अभी है तैनात-

वार्ता में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व लेह स्थित 14 वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन कर रहे थे। ज्ञात हो की कोर कमांडर स्तर की सातवें दौर की वार्ता 12 अक्टूबर को हुई थी, जिसमें चीन ने पेगोंग झील के दक्षिणी तट के आसपास सामरिक महत्व के अत्यधिक ऊंचे स्थानों से भारतीय सैनिकों को हटाने पर जोर दिया था। लेकिन भारत ने टकराव वाले सभी स्थानों से सैनिकों की वापसी की प्रक्रिया एक ही समय पर शुरू करने की बात कही थी। पूर्वी लद्दाख में विभिन्न पवर्तीय क्षेत्रों में भारतीय थल सेना के कम से कम 50,000 जवान युद्ध की तैयारियों के साथ अभी तैनात हैं। दरअसल, गतिरोध के हल के लिए दोनों देशों के बीच कई दौर की वार्ता में कोई ठोस नतीजा हाथ नहीं लगा है। अधिकारियों के अनुसार चीन ने भी इतनी ही संख्या में अपने सैनिकों को तैनात किया है।

Leave a comment

Your email address will not be published.