WHO ने किया बड़ा दावा, चीन के वुहान लैब से नहीं निकला Coronavirus

Coronavirus Origin Report Update
Coronavirus Origin Report Update

नई दिल्ली: विश्व भर में फैली कोरोना वायरस महामारी से इंसान कैसे संक्रमित हुए, इस बात पर पिछले एक साल से बहस जारी है। अभी तक की मौजूदा जानकारी की मानें तो कोरोना चीन के वुहान शहर से पूरी दुनिया में फैला। लेकिन अब साल भर बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की टीम ने एक बड़ा दावा किया है। WHO के एक्सपर्ट्स का कहना है कि यह वायरस संभवतया चमगादड़ से किसी दूसरे जानवर (इंटरमीडियरी) के जरिए इंसानों तक पहुंचा होगा। बता दें, की एक्सपर्ट्स ने इस वायरस के वुहान (चीन) की लैब से लीक होने की बात को खारिज कर दिया है।

Coronavirus Origin Report Update
Coronavirus Origin Report Update

 WHO एक्सपर्ट्स की राय

  • अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का कहना था कि वायरस चीन के वुहान की लैब से लीक हुआ है। लेकिन WHO के एक्सपर्ट्स ने इस आशंका को खारिज कर दिया है।
  • चीन ने कहा था कि वायरस की उत्तपति उसके यहां से नहीं हुई थी, बल्कि यह इंपोर्टेड फ्रोजन फूड के जरिए वहां पहुंचा था। एक्सपर्ट ने इस संभावना से इनकार तो नहीं किया, लेकिन कहा कि इसके आसार बहुत कम हैं।

WHO – वायरस के उत्पत्ति पर और रिसर्च की जरूरत

हालांकि, एक्सपर्ट्स की टीम ने वायरस के इंसानों तक पहुंचने की वजह को लेकर कोई पुख्ता जवाब नहीं दिया है। बता दें, कि WHO के एक्सपर्ट्स की टीम कोरोना वायरस के ओरिजिन का पता लगाने के लिए चीन गई थी। इस बारे में मंगलवार को डिटेल रिपोर्ट भी जारी की जाएगी। WHO के डायरेक्टर जनरल टेड्रोस एडहेनॉम ग्रेब्रेयीसस का कहना है कि इंटरनेशनल एक्सपर्ट्स प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताएंगे कि उनकी जांच में क्या सामने आया। साथ ही कहा कि इस महामारी के ओरिजिन को लेकर आगे और स्टडी की जरूरत है।

देश में कोरोना का बढ़ता कहर, 24 घंटे में आए 62 हजार नए केस, 291 की मौत

कोरोना वायरस के चलते 15 महीने में दुनियाभर में 27 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। इस संक्रमण की वजह से पिछले साल दुनियाभर की सरकारों को टोटल लॉकडाउन करना पड़ा था। इसे लेकर सख्ती अभी तक जारी है। लॉकडाउन की वजह से भारत समेत दुनियाभर के देशों की इकोनॉमी को काफी नुकसान हुआ था।

 चीन ने जताई आपत्ति

जैसा की आप जानते ही होंगे की चीन पर आरोप लगे थे कि कोरोनावायरस वुहान की लैब से दुनियाभर में फैला। जिसके बाद WHO ने एक्सपर्ट्स की टीम बनाकर जांच के लिए चीन भेजा था। हालांकि, चीन ने इस पर आपत्ति भी जताई थी। इसी वजह से एक्सपर्ट्स की रिपोर्ट में देरी हुई। जांच टीम को वुहान में एंट्री मिलने में भी कई दिक्कतें हुई थीं। ये टीम इस साल 14 जनवरी को वुहान पहुंची थी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *