बुलंदशहर की घटना पर CM योगी ने लगाई फटकार तो मिठाई लेकर बच्ची को मनाने पहुंचे आला अफसर।

नई दिल्ली : वैसे तो यूपी पुलिस का अमानवीय चेहरा कई बार सामने आ चुका है, ऐसा ही एक ताजा मामला यूपी के बुलंदशहर से सामने आया है, जहां यूपी पुलिस ने एक पटाखा विक्रेता को ना केवल बेरहमी से पीटा बल्कि घसीटकर गाड़ी में बैठाकर थाने भी ले गई, इस दौरान जब युवक को पुलिस थाने ले जा रही थी तो उसकी मासूम बेटी उसे छुड़वाने के लिए पुलिस की गाड़ी पर अपना सिर मारने लगी। इसके साथ ही वो जोर-जोर से रोते हुए पिता को छोड़ने की गुहार लगा रही थी, बेटी बार-बार चिल्लाती रही मेरे पापा को छोड़ दो मेरे पापा को छोड़ दो, लेकिन इन सबका पुलिस पर कोई असर नहीं पड़ा और पटाखा बेचने वाले युवक को अपने साथ थाने ले गई। लेकिन जब इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो अधिकारियों की नींद टूटी और युवक को छोड़ा गया। यहीं नहीं यह वायरल वीडियो की खबर जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक पहुंची तो उन्होंने तुरंत बच्ची के घर मिठाई ले जाने और उसे मनाने का आदेश दिया।

वीडियो वायरल होते ही आला अधिकारी हरकत में आए

Image

इस घटना का वीडियो वायरल होते ही आला अधिकारी हरकत में आए और पटाखा बेच रहे युवक को तुरंत छोड़ने का आदेश दिया। मामला मुख्यमंत्री योगी तक पहुंचा और उन्होंने तुरंत अधिकारिकों को मिठाई लेकर उस युवक के घर जाने का आदेश दिया। मुख्यमंत्री योगी के मीडिया सलाहकार शलभमणि त्रिपाठी ने ट्ववीट कर जानकारी दी कि मुख्यमंत्री योगीजी बुलंदशहर की घटना को बेहद संवेदनशीलता से लेते हुए ना सिर्फ पटाखा कारोबारी को तत्काल रिहा कराया बल्कि वरिष्ठ अधिकारियों के हाथों उनके व उनकी मासूम बेटी के लिए दीपावली के उपहार व मिठाइयां भी भिजवांईं, दोषी पुलिसकर्मी के खिलाफ सख़्त कार्रवाई कर दी गई है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री का स्पष्ट निर्देश है कि पुलिस हर किसी से संवेदनशीलता से पेश आए, मुख्यमंत्री जी ने सभी वरिष्ठ अधिकारियों को रात में ही पटाखा कारोबारी के परिवार के बीच जाने के आदेश दिए,मुख्यमंत्री जी की पहल से इस परिवार की दीपावली खुशहाल और यादगार हो गई।

पुलिसकर्मियों पर सख्त एक्शन लेने का निर्देश

Image

इसके साथ सीएम योगी ने इसके लिए जिम्मेदार पुलिसकर्मियों पर सख्त एक्शन लेने का निर्देश दिया। बता दें कि जब इस घटना का वीडियो वायरल हुआ तो आला अधिकारी हरकत में आए और पटाखा बेच रहे युवक को तुरंत छोड़ने का आदेश दिया। वहीं मामला मुख्यमंत्री योगी तक पहुंचा और उन्होंने तुरंत अधिकारिकों को मिठाई लेकर उस युवक के घर जाने का आदेश दिया।

मामले की जानकारी शलभमणि त्रिपाठी ने ट्वीट कर दी

मुख्यमंत्री योगी के मीडिया सलाहकार शलभमणि त्रिपाठी ने ट्ववीट कर इस मामले की जानकारी देते हुए कहा कि, “मुख्यमंत्री योगीजी बुलंदशहर की घटना को बेहद संवेदनशीलता से लेते हुए ना सिर्फ पटाखा कारोबारी को तत्काल रिहा कराया बल्कि वरिष्ठ अधिकारियों के हाथों उनके व उनकी मासूम बेटी के लिए दीपावली के उपहार व मिठाइयां भी भिजवाईं, दोषी पुलिसकर्मी के खिलाफ सख़्त कार्रवाई कर दी गई है।”

पिता के छूटने पर देखिए बच्ची ने क्या कहा –

शलभमणि त्रिपाठी ने ने बताया कि मुख्यमंत्री का स्पष्ट निर्देश है कि पुलिस हर किसी से संवेदनशीलता से पेश आए, मुख्यमंत्री जी ने सभी वरिष्ठ अधिकारियों को रात में ही पटाखा कारोबारी के परिवार के बीच जाने के आदेश दिए, मुख्यमंत्री जी की पहल से इस परिवार की दीपावली खुशहाल और यादगार हो गई।

क्या है पूरा मामला –

बता दें कि एनजीटी ने बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए पटाखों की बिक्री बैन लगा दिया है। हालांकि इसके बावजूद बुलंदशहर में कुछ दुकानदार खुलेआम पटाखे बेच रहे थे, जिन पर खुर्जा पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 6 दुकानदारों को हिरासत में लिया और पटाखे जब्त कर लिए. इस दौरान इस दौरान एक बच्ची पुलिस से अपने पिता को छोड़ने की गुहार लगाती रही

Leave a comment

Your email address will not be published.