Bengal Chunav TMC: नेता के घर EVM मिलने से हड़कंप, अब होगी कड़ी कार्यवाही

Bengal Chunav TMC
Bengal Chunav TMC

नई दिल्लीः Bengal Chunav TMC: पश्चिम बंगाल में तीसरे चरण के लिए वोटिंग जारी है। 31 सीटों के लिए मतदान हो रहे हैं। इस बीच कई जगहों से हिंसा की खबर आ रही है और उलबेरिया में तृणमूल नेता के घर में ईवीएम व वीवीपैट मिलने से हड़कंप मच गया है। बता दें कि तीसरे चरण में तीन जिलों हावड़ा, हुगली और दक्षिण 24 परगना की 31 सीटों पर कुल 205 प्रत्याशी मैदान में हैं। हावड़ा की सात, हुगली की आठ और दक्षिण 24 परगना जिले की 16 सीटें हैं। इन सभी सीटों को संवेदनशील घोषित कर दिया गया है और धारा 144 लागू है।

पिछले विधानसभा चुनाव में इन 31 सीटों में से 30 पर तृणमूल कांग्रेस ने कब्जा जमाया था। सिर्फ आमता सीट पर कांग्रेस की जीत हुई थी। तीसरे चरण में कुल 78,52,425 मतदाता 10,871 बूथों पर अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। केंद्रीय बलों की 618 कंपनियां तैनात हैं। सबसे ज्यादा 307 कंपनियां दक्षिण 24 परगना जिले में तैनात हैं।

Bengal Chunav TMC: कई जगह हिंसा

हुगली जिले के गोघाट में एक भाजपा समर्थक की मां की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने मामले के संबंध में दो लोगों को गिरफ्तार किया है और दो लोग हिरासत में लिए गए हैं। मृतका के परिजनों ने तृणमूल कांग्रेस पर आरोप लगाया है। वहीं टीएमसी ने इससे इन्कार किया है। वहीं बगनान में तृणमूल के कैंप ऑफिस में तोड़फोड़ की खबर है। भाजपा पर आरोप लगा है। दक्षिण 24 परगना जिले के कैनिंग में भाजपा कार्यकर्ता की पिटाई का मामला सामने आया है।

इसका इस्तेमाल चुनाव में नहीं किया जाएगा

चुनाव आयोग के अनुसार हावड़ा जिले के एसी 177 उलूबेरिया उत्तर में सेक्टर 17 के सेक्टर अधिकारी तपन सरकार, रिजर्व ईवीएम के साथ गए और एक रिश्तेदार के घर पर सो गए। यह चुनाव आयोग के निर्देशों का घोर उल्लंघन है। अधिकारी को निलंबित कर दिया गया है और बड़ी सजा के लिए आरोप तय किए जाएंगे। सेक्टर अधिकारी से जुड़ी सेक्टर पुलिस को भी निलंबित करने का निर्देश दिया गया है। उक्त ईवीएम और वीवीपीएटी को स्टॉक से बाहर कर दिया गया है और इसका इस्तेमाल चुनाव में नहीं किया जाएगा।

उलुबेरिया में टीएमसी नेता के निवास पर ईवीएम और वीवीपीएटी मिलने से हड़कंप। चुनाव आयोग ने कहा कि सेक्टर अधिकारी को निलंबित कर दिया गया है। ये रिजर्वड ईवीएम थे। इनको चुनाव प्रक्रिया से हटा दिया गया है। संलिप्त लोगों के खिलाफ गंभीर कार्रवाई की जाएगी।

हिडमा नाम के इंसान ने जवानों पर हमले कराए थे 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *