कोरोना मरीजों को बड़ी राहत, बाल फार्मा ने लांच की एंटी वायरल दवा Favipiravir

Favipiravir drug
Favipiravir drug

नई दिल्लीः कोरोना मरीजों के इलाज में इस्तेमाल की जाने वाली एंटी वायरल दवा फेविपिरावीर (Favipiravir) को बाल फ्लू (BALflu) के नाम से बाजार में पेश किया गया है। बेंगलुरु स्थित कंपनी ने कहा है कि 400 एमजी के एक टेबलेट की कीमत 85 रुपये है। फेविपिरावीर का इस्तेमाल कोरोना वायरस से हल्के और मध्यम स्तर तक संक्रमित मरीजों के इलाज में किया जाता है।

कोरोना के बीच दिल्ली में अब डेंगू-चिकनगुनिया का खतरा, टूटा 8 साल का रिकॉर्ड

Favipiravir का इस्तेमाल

बता दें की कंपनी ने जानकारी देते हुए कहा कि बालफ्लू का इस्तेमाल 53 तरह के इंफ्लुएंजा विषाणुओं के इलाज में भी किया जा सकता है। जिसमें इबोला वायरस, कोरोनावायरस, बनियावायरस, फाइलोवायरस, वेस्ट नाइल वायरस और लासा वायरस शामिल हैं। भारतीय औषध महानियंत्रक ने कोविड के इलाज के लिए आपात इस्तेमाल को लेकर बालफ्लू को मंजूरी दे दी है।

कोरोना टेस्टिंग के लिए Cipla ने लॉन्च की RT-PCR टेस्ट किट, आज से ही उपलब्ध

सभी प्रमुख बाजारों में उपलब्ध

बाल फार्मा के प्रबंध निदेशक शैलेश सिरोया ने कहा कि बालफ्लू में 28.7 प्रतिशत तेजी से वायरस को खत्म करने की क्षमता है और इसे 85 रुपये प्रति टैबलेट की बहुत सस्ती कीमत पर बेचा जा रहा है ताकि जरूरतमंद मरीज समय पर इस दवा का उपयोग कर सके। उन्होंने कहा कि बालफ्लू भारत के सभी प्रमुख बाजारों में प्रिस्क्रिप्शन दवा के रूप में उपलब्ध है। पहले दिन मरीज को दवा की 1,800 मिलीग्राम की अनुशंसित खुराक लेनी होगी। इसके बाद 2 से 14 दिन तक 800 मिलीग्राम दवा की सिफारिश की गई है।

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना मरीजों को बड़ी राहत, बाल फार्मा ने लांच की एंटी वायरल दवा Favipiravir

Favipiravir drug
Favipiravir drug

नई दिल्लीः कोरोना मरीजों के इलाज में इस्तेमाल की जाने वाली एंटी वायरल दवा फेविपिरावीर (Favipiravir) को बाल फ्लू (BALflu) के नाम से बाजार में पेश किया गया है। बेंगलुरु स्थित कंपनी ने कहा है कि 400 एमजी के एक टेबलेट की कीमत 85 रुपये है। फेविपिरावीर का इस्तेमाल कोरोना वायरस से हल्के और मध्यम स्तर तक संक्रमित मरीजों के इलाज में किया जाता है।

कोरोना के बीच दिल्ली में अब डेंगू-चिकनगुनिया का खतरा, टूटा 8 साल का रिकॉर्ड

Favipiravir का इस्तेमाल

बता दें की कंपनी ने जानकारी देते हुए कहा कि बालफ्लू का इस्तेमाल 53 तरह के इंफ्लुएंजा विषाणुओं के इलाज में भी किया जा सकता है। जिसमें इबोला वायरस, कोरोनावायरस, बनियावायरस, फाइलोवायरस, वेस्ट नाइल वायरस और लासा वायरस शामिल हैं। भारतीय औषध महानियंत्रक ने कोविड के इलाज के लिए आपात इस्तेमाल को लेकर बालफ्लू को मंजूरी दे दी है।

कोरोना टेस्टिंग के लिए Cipla ने लॉन्च की RT-PCR टेस्ट किट, आज से ही उपलब्ध

सभी प्रमुख बाजारों में उपलब्ध

बाल फार्मा के प्रबंध निदेशक शैलेश सिरोया ने कहा कि बालफ्लू में 28.7 प्रतिशत तेजी से वायरस को खत्म करने की क्षमता है और इसे 85 रुपये प्रति टैबलेट की बहुत सस्ती कीमत पर बेचा जा रहा है ताकि जरूरतमंद मरीज समय पर इस दवा का उपयोग कर सके। उन्होंने कहा कि बालफ्लू भारत के सभी प्रमुख बाजारों में प्रिस्क्रिप्शन दवा के रूप में उपलब्ध है। पहले दिन मरीज को दवा की 1,800 मिलीग्राम की अनुशंसित खुराक लेनी होगी। इसके बाद 2 से 14 दिन तक 800 मिलीग्राम दवा की सिफारिश की गई है।

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *