रक्तदान करने वाले रिंकू शर्मा को खून के बदले पीठ में चाकू घोंपा

bajrang-dal-worker-rinku-sharmas-murder-case
bajrang-dal-worker-rinku-sharmas-murder-case

नई दिल्ली : दिल्ली से एक सनसनीखेज घटना सामने आई है. यहां देर रात एक युवक की घर में घुसकर हत्या कर दी गई है. मृतक की पहचान 26 वर्षीय रिंकू शर्मा के रूप में हुई है, जो बजरंग दल का कार्यकर्ता बताया जा रहा है. रिंकू शर्मा अपने परिवार के साथ मंगोलपुरी में रहता था. वह पश्चिम विहार स्थित एक अस्पताल में बतौर लैब टेक्नीशियन काम करता था. बताया जा रहा है कि रिंकू अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए चलाए जा रहे चंदा अभियान में सक्रिय था और बीते दिन इसी को लेकर झगड़ा हुआ था. फिलहाल पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है और चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

bajrang-dal-worker-rinku-sharmas-murder-case
bajrang-dal-worker-rinku-sharmas-murder-case

आरोपी इस्लाम की पत्नी को दिया था खून

दिल्ली पुलिस की जांच में सामने आया है कि रिंकू शर्मा जिनके दुखों में अपना खून देकर शामिल हुए उन्हीं लोगों ने उनकी पीठ में चाकू घोप मौत के घाट उतार दिया। इस घटना से आसपास के लोगों में भारी रोष है। हत्या में शामिल इस्लाम की पत्नी डेढ़ वर्ष पहले गर्भवती थी। उसकी हालत बहुत खराब थी। रोहिणी स्थित अस्पताल में उसके उपचार के लिए खून की आवश्यकता थी। ऐसे में रिंकू ने दो बार अपना खून आरोपित की पत्नी को दिया। यहीं नहीं रिंकू ने आरोपित इस्लाम के भाई शकुरू को कोरोना होने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराने में मदद की थी, लेकिन शायद रिंकू को यह नहीं पता था कि जिसको वह अपना खून दे रहा है, वही उसके खून के प्यासे हो जाएंगे। पड़ोसी रमेश ने बताया कि रिंकू का किसी के साथ दुश्मनी नहीं थी। वह एक नेक दिल इंसान थे।

रिंकू संभालता था घर की जिम्मेदारी

रिंकू की मां राधा शर्मा व पिता अजय शर्मा रक्तचाप व मधुमेह के मरीज हैं। स्थानीय लोगों ने बताया कि अजय ने बहुत पहले नौकरी छोड़ दी थी। वहीं रिंकू की मां ने भी कुछ महीने पहले नौकरी छोड़ दी थी। ऐसे में घर की जिम्मेदारी रिंकू पर थी। वह छोटे भाइयों की जरूरतों का भी खयाल रखते थे। उनकी मौत के बाद परिवार के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है।

घर में आग लगाने की भी की थी कोशिश

रिंकू की मां राधा ने बताया कि हमलावरों ने किचन में रखे गैस सिलेंडर निकाल कर आग लगाने की कोशिश भी की थी। हमलावरों की संख्या 15 से अधिक थी। इतना ही नहीं आरोपितों के घर की महिलाओं ने उनके घर पर पहुंचकर हंगामा किया। स्थानीय लोगों ने बताया कि आरोपितों की हरकतों से सभी परेशान थे। ये लोग छोटी-छोटी बातों पर लड़ाई करने को तैयार रहते थे। गली के कई लड़कों से इनकी कई बार लड़ाई हो चुकी है। रिंकू की मां ने बताया कि आरोपित जय श्री राम के नारे से नफरत करते थे।

Leave a comment

Your email address will not be published.