वैक्सीन बर्बादी के मुद्दे पर घिरी गहलोत सरकार, राज्यपाल ने मांगी रिपोर्ट

नई दिल्लीः राज्य में टीकों की बर्बादी के बीच राज्यपाल कलराज मिश्र ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर कोविड के जीवन रक्षक टीके की बर्बादी के संबंध में उच्च स्तरीय जांच कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने इस संबंध में रिपोर्ट भी मांगी है। राज्यपाल ने इस संबंध में प्रकाशित समाचारों का ध्यान आकृष्ट करते हुए कहा कि राष्ट्रव्यापी महामारी में लोगों का जीवन बचाने के लिए वैक्सीन ही एकमात्र सटीक उपाय है।

राजस्थान सरकार ने बनाई घर-घर पौधे वितरण की योजना, औषधीय पौधे लगाने का लक्ष्य

वैक्सीन बर्बादी की मांगी रिपोर्ट

इस दौरान उन्होंने कहा कि केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण करवाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। लेकिन 35 सेंटर्स पर 500 वैक्‍सीन कचरे में मिलने और इनमें 2500 से भी ज्यादा डोज खराब होने को लेकर आ रहे समाचार चिंता का विषय है। उधर गहलोत फ्री वैक्सीन को लेकर गैर भाजपा शासित मुख्यमंत्रियों को एकजुट करने में जुट गए हैं।गहलोत गैर भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों को फ्री वैक्सीनेशन के मुद्दे को एक साथ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के समक्ष रखने की रणनीति बना रहे हैं।

राजस्थान : कोटा रेल यात्रियों की सुरक्षा के लिए शुरू हुआ कलर लाइट सिस्टम

जवाब देने की तैयारी शुरू

बता दें की राज्यपाल का पत्र मिलने के बाद सरकार ने जवाब देने की तैयारी शुरू कर दी है। शनिवार को अवकाश के बावजूद मुख्यमंत्री कार्यालय और चिकित्सा विभाग के वरिष्ठ अधिकारी जिलावार टीकाकरण और खराबी को लेकर डॉटा एकत्रित करने में जुटे रहे। ये अधिकारी सुबह ही शासन सचिवालय पहुंच गए। उधर मुख्यमंत्री के निर्देश पर चिकित्सा विभाग ने टीकों का ऑडिट करवाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *