दिल्ली सरकार ने लिया बड़ा फैसला, नेगेटिव रिपोर्ट आने पर ही होगी दिल्ली में एंट्री 

नई दिल्ली: पुरे देश भर में बढ़ते कोरोना संक्रमित के मामले को रोकने के लिए हर एक राज्य अपने अपने तरीकों का इस्तेमाल कर रहे है। कोरोना को मद्दे नज़र रखते हुए और लोगों के सावधानी के लिए कई सारे नियमों और प्रोटोकॉल को लागू किए गए।

Arvind-Kejriwal
Arvind-Kejriwal

फ़िलहाल बताया जा रहा है की हाल ही में ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील से कई यात्रियां भारत में आए जिससे कोरोना के नए स्ट्रेन मिलने की खबर आई है। वही अब इसी कड़ी में भारत की राजधानी दिल्ली के सीएम केजरीवाल कोरोना के खिलाफ बहुत ही जल्द एक नया नियम लागू करने वाले है। बता दें की दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (डायल) ने (आइजीआइ) एयरपोर्ट पर यात्रियों की कोरोना जांच के लिए 200 अतिरिक्त स्वास्थ्य कर्मियों को तैनात किया है।

Rajasthan Budget Live : Congress विधायक शकुंतला रावत से बातचीत, 50 हजार किसानों को मिलेगा सोलर पावर

जल्द की जाएगी नए नियम को लागु

दरअसल महाराष्ट्र, पंजाब और केरल जैसे भारत के कुछ ओर राज्यों से हाल ही में कोरोना के नए स्ट्रेन मिले है जिसे लेकर दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी व अरविन्द केजरीवाल ने चिंता ज़ाहिर की है। वहीं इसी कड़ी में दिल्ली सरकार ने यह निर्णय लिया है की महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और पंजाब के यात्रियों को दिल्ली में प्रवेश के लिए कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य होगा। बता दें कि यह नियम आगामी 26 फरवरी से अगले महीने 15 मार्च तक लागू की जायेगी। रिपोर्ट्स की अगर बात करें तो 23 फरवरी से विदेश से आने वाले सभी यात्रियों का एयरपोर्ट के लैब में सरकारी दर पर जांच किया जा रहा है। रिपोर्ट के नेगेटिव आने पर ही यात्री अगली उड़ान लेंगे और पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर यात्रियों को संस्थागत क्वांरटाइन किया जायेगा।

Arvind-Kejriwal
Arvind-Kejriwal

कड़ी सावधानी बरती जाएगी

दूसरी ओर दिल्ली में बढ़ते कोरोना के मामले को देखते हुए दिल्ली सरकार लोकनायक अस्पताल में एक विशेष कोरोना वार्ड बनाने की तैयारी में जुटी है। चिकित्सा निदेशक डॉ. सुरेश कुमार ने बताया है, “पंजाब और महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में मिले स्ट्रेन का अगर दिल्ली में कोई मामला आता है तो इन मरीजों को यूके स्ट्रेन वाले मरीजों के लिए बनाए गए विशेष वार्ड में रखा जाएगा। साथ ही संख्या बढ़ने की संभावना के तहत एक और विशेष वार्ड भी बनाए जाने की तैयारी है। तो वहीं स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी के मुताबिक के मुताबिक, “दिल्ली में अभी तक नए स्ट्रेन का कोई मामला सामने नहीं आया है, लेकिन एहतियात के तौर पर पहले से तैयारी की जा रही है।” आगे उन्होंने यह भी कहा, “नए स्ट्रेन से मुकाबले के लिए दिल्ली में पर्याप्त इंतजाम हैं और डाक्टर भी कोरोना के बदले स्वरूप के आधार पर खुद को तैयार कर चुके हैं। वहीं, दिल्ली के लोगों से भी अपील की जा रही है कि वह उन राज्यों में जाने से बचे जहां कोरोना के नए स्ट्रेन मिल रहे हैं।”

Leave a comment

Your email address will not be published.