अर्जुन तेंदुलकर को खरीदा मुंबई इंडियंस ने, कोच ने कही ये बात

अर्जुन तेंदुलकर
अर्जुन तेंदुलकर

नई दिल्ली : इंडियन प्रीमियर लीग के खिलाड़ियों की नीलामी में सबसे ज्यादा चर्चा में अर्जुन तेंदुलकर का नाम रहा।क्योकि सचिन तेंदुलकर के बेटे है अर्जुन तेंदुलकर। उन्होंने अभी मुंबई के लिए खेलना शुरू किया है।वह आब फ्रेंचाइजी टीम में है। वह धीरे धीरे सीखेंगे और बेहतर होंगे क्योकि वह अभी युवा है। एक ऐसे युवा जो बहुत केंद्रित है। हमें उनको वक्त देना होगा और उम्मीद करता हूं कि उनपर ज्यादा दबाव नहीं डाला जाएगा।

 सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर
सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर

उनके को अपने तरीके से काम करने दिया जाए। हमारी कोशिश उनको इसी चीज में मदद पहुंचाने की होगी। जिस से अर्जुन को और सीखने को मिलेगा। उन्होंने अभी मुंबई के लिए खेलना शुरू किया है। और अब वह फ्रेंचाइजी टीम में हैं। वह धीरे धीरे सीखेंगे और बेहतर होंगे। वह अभी युवा खिलाड़ी है।मुंबई इंडियंस की टीम ने 20 लाख की बोली लगाकर उन्होको टीम में शामिल किया। इसके बाद से ही अर्जुन के नाम को लेकर अलग अलग प्रतिक्रिया हो रही है। उनके बारे में टीम के कोच महेला जयवर्धने ने उनकी तारीफ की है।

हुनर के आधार पर सलेक्ट किया

कोच ने कहा कि हमने उनके हुनर के आधार पर यह फैसला कर उनको सलेक्ट किया है। सचिन के नाम होने की वजह से उनके ऊपर हमेशा ही यह बड़ा टैग लगा रहेगा। लेकिन अच्छी बात यह है कि एक गेंदबाज है ना कि बल्लेबाज। इसी वजह से मैं सोचता हूं कि सचिन को इस बात पर गर्व होगा कि काश उनका बेटा भी बल्लेबाज होता।लेकिन वह एक अच्छे गेंदबाज है।

अर्जुन एक ऑलराउंडर खिलाड़ी

अर्जुन एक अच्छा ऑलराउंडर खिलाड़ी भी है। जो तेज गेंदबाजी के साथ अच्छी बल्लेबाजी भी करते है। हाल ही में एक घरेलू टूर्नामेंट में उन्होंने तीन विकेट लेने के साथ ही तूफानी अर्धशतक भी लगाया था। 31 गेंद पर 71 रन की पारी के दौरान अर्जुन ने एक ओवर में 5 छक्के भी लगाए थे।जो उनकी ताकत को दिखाता है।

मुंबई के लिए खेलना शुरू किया

आने वाला वक्त अर्जुन के लिए  ओर सीखने का होगा। उन्होंने अभी मुंबई के लिए खेलना शुरू किया है।अब वह फ्रेंचाइजी टीम में भी है। वह धीरे धीरे सीखेंगे और बेहतर होंगे वह अभी युवा है। एक ऐसे युवा जो बहुत केंद्रित है। हमें उनको वक्त देना होगा और उम्मीद करते है कि उन्हो पर ज्यादा दबाव नहीं डालना चाहिए। उनके उभरने दीजिए और अपने तरीके से काम करने दिया जाए। हमारी कोशिश उनको इसी चीज में मदद करने की जो भी भारत के लिए बेहद जरूरी है।

Leave a comment

Your email address will not be published.