Cyclone Tauktae:समुद्री तूफ़ान ने महाराष्ट्र में मचाई तबाही, गुजरात में अलर्ट जारी

ahmedabad-after-heavy-devastation-in-maharashtra-cyclone-tauktae-hit-coast-of-gujarat
ahmedabad-after-heavy-devastation-in-maharashtra-cyclone-tauktae-hit-coast-of-gujarat

मुंबई : Cyclone Tauktae: अत्यंत गंभीर समुद्री तूफान की श्रेणी में पहुंच चुका चक्रवात टाक्टे सोमवार रात करीब नौ बजे गुजरात के तट से टकरा गया। इससे पहले इस समुद्री तूफान ने दिन भर महाराष्ट्र के कई जिलों में जमकर तबाही मचाई। मुंबई, थाणे, रायगढ़ और सिंधुदुर्ग में भारी बारिश और तेज हवाओं के कारण जनजीवन अस्तव्यस्त रहा। सैकड़ों घर ध्वस्त होने के साथ कई जगह पेड़ उखड़ने और बिजली के खंभे गिरने से संचार सेवाएं व बिजली आपूर्ति लड़खड़ा गई। तूफान के कारण महाराष्ट्र में कम से कम छह लोगों की मौत हो गई।

ahmedabad-after-heavy-devastation-in-maharashtra-cyclone-tauktae-hit-coast-of-gujarat
ahmedabad-after-heavy-devastation-in-maharashtra-cyclone-tauktae-hit-coast-of-gujarat

भारी बारिश और तेज हवाओं के कारण मुंबई का छत्रपति शिवाजी महराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा दिन में 11 बजे से रात आठ बजे तक के लिए बंद कर दिया गया। इस दौरान विभिन्न शहरों से पहुंचे तीन यात्री विमानों को उतरने की इजाजत न देकर वापस लौटा दिया। इसके बाद रात दस बजे के बाद यहां पिर से उड़ानें शुरू कर दी गईं हैं। तूफान के कारण लोकल ट्रेन सेवा भी लड़खड़ा गई। कई सामान्य ट्रेनें पहले ही रद कर दी गई थीं। बांद्रा-वर्ली सी लिंक रूट पर यातायात बंद रखा गया। रात करीब नौ बजे यह तूफान गुजरात के तट पर पहुंच गया।

मौसम विभाग ने दी जानकरी

मौसम विभाग ने दिन में इस तूफान के गुजरात पहुंचने तक हवाओं की रफ्तार 185 किमी प्रति घंटा तक होने की आशंका व्यक्त की थी। टाक्टे से सर्वाधिक तबाही गुजरात में होने की आशंका पर एनडीआरएफ और सेना की टीमें पूरी तैयारी के साथ मुस्तैद हैं। वायुसेना ने सोमवार को विशेष विमानों से एनडीआरएफ की कुछ और टीमों व उपकरणों को कोलकाता से अहमदाबाद पहुंचाया। सेना ने भी अपनी करीब 180 टीमें और इंजीनियर लगा रखे हैं। प्रशासन ने 17 जिलों में निचले तटवर्ती क्षेत्रों से करीब डेढ़ लाख लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया है।

गुजरात से टकराने वाला है तौकते चक्रवाती तूफ़ान, हजारों लोगों को भेजा सुरक्षित जगह, सैकड़ों घर तबाह

समुद्र में फंसे लोगों को निकालने में जुटी नौसेना टाक्टे के कारण मुंबई में सोमवार को दिन भर भारी बारिश और तेज हवाएं चलती रहतीं। इसके कारण समुद्र में चार मीटर तक ऊंची लहरें उठती देखी गईं। बांबे हाई के पास समुद्र में दो बजरों (बार्ज) में सवार 400 से अधिक लोग तूफान में फंस गए। इन्हें सुरक्षित निकालने के लिए नौसेना ने अपने तीन पोत लगाए हैं। ये लोग ओएनजीसी के कर्मचारी बताए गए हैं।

चली तेज हवाएं

टाक्टे के कारण मुंबई में सोमवार दोपहर बाद हवाओं की रफ्तार 114 किमी प्रति घंटे तक पहुंच गई। हालांकि कोलाबा स्थित मुंबई के मौसम विभाग कार्यालय ने हवा की अधिकतम रफ्तार 108 किमी प्रति घंटा दर्ज की। मौसम विभाग की वरिष्ठ निदेशक शुभांगी भूते ने बताया कि कोलाबा और सांताक्रूज में सुबह आठ बजे से शाम साढ़े चर बजे तक क्रमश: 184 और 186 मिमी बारिश दर्ज की गई।

Leave a comment

Your email address will not be published.