UP Viral Video Controversy: ट्विटर के बाद Facebook पर शिकंजा कसने की तैयारी में गाजियाबाद पुलिस

Social Media
social Media

UP Viral Video Controversy: ट्विटर के बाद Facebook पर शिकंजा कसने की तैयारी में गाजियाबाद पुलिस

नई दिल्ली: गाजियाबाद दिल्ली से सटे गाजियाबाद के लोनी इलाके में एक बुजुर्ग की पिटाई और दाढ़ी काटने के मामले में ट्विटर इंडिया के बाद इंटरनेट मीडिया नेटवर्किंग साइट फेसबुक भी कटघरे में है। मिली जानकारी के मुताबिक, गाजियाबाद पुलिस Twitter इंडिया के खिलाफ मामला दर्ज करने के बाद Facebook पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है। गाजियाबाद पुलिस के मुताबिक, समाजवादी पार्टी के नेता उम्मेद पहलवान पर दर्ज FIR में फेसबुक को भी शामिल किया गया है।  जिसके बाद स्थानीय पुलिस का कहना है कि फेसबुक ने फैक्ट चेक किए बिना भ्रामक वीडियो को पोस्ट किया, ऐसे में उस पर भी मामला बनता है। फिलहाल इस मामले में फेसबुक के खिलाफ भी मामला दर्ज किया जा सकता है।

facebook twitter
facebook twitter

फेसबुक को नोटिस भेजनें की तैयारी में गाजियाबाद पुलिस

FIR
FIR

यह भी पढ़े- Coronavirus India Update: CM Yogi गोरखपुर के दो दिवसीय दौरे पर, वैक्सीनेशन कार्यक्रम का लिया जायेजा

गौरतलब है कि गाजियाबाद के लोनी इलाके में पिटाई का वीडियो वायरल करने के मामले में पुलिस ने ट्विटर की दो कंपनियों समेत नौ लोगों के खिलाफ नोटिस जारी करने की तैयारी की है। साथ ही ट्विटर की दोनों कंपनियों को जल्द ही नोटिस जारी किया जाएगा। वहीं अन्य आराेपित जिनमें कांग्रेस नेता और कुछ पत्रकार भी शामिल हैं, नोटिस भेजने के लिए उनके भी पते निकलवाए जा रहे हैं।

हालांकि पिटाई के पांच आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद अब पुलिस अन्य आरोपितों की तलाश में भी दबिश दे रही है। जल्द ही उनकी गिरफ्तारी का दावा किया जा रहा है।

आसामाजिक किस्म के लोगों ने इंटरनेट और मीडिया का लिया सहारा

गाजियाबाद पुलिस की जांच में सामने आया है कि लोनी में बुजुर्ग अब्दुल समद की पिटाई और दाढ़ी काटने के वीडियो को एक गहरी साजिश के तहत वायरल किया गया था। पुलिस और खुफिया विभाग की जांच में यह भी पता चला है कि जिले का माहौल बिगाड़ने के लिए कुछ शरारती और आसामाजिक किस्म के लोगों ने इंटरनेट और मीडिया का सहारा लिया।

 साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि अगले साल होने जा रहे 2022 विधानसभा चुनाव से पहले माहौल बिगाड़ने के लिए इस वीडियो को वायरल किया गया। वीडियो वायरल करने वाले नेताओं और पत्रकारों के खिलाफ पुलिस जल्द ही कार्यवाही करेगी। पुलिस ने ट्विटर की दो कंपनियों के अलावा जिन सात लोगों पर माहौल खराब करने के आरोप में एफआइआर दर्ज की है उनमें कांग्रेस नेता सलमान निजामी, शमा मोहम्मद और मसकूर उस्मानी, पत्रकार मोहम्मद जुबैर, राणा अय्यूब व सबा नकवी शामिल हैं। साथ ही आनलाइन पोर्टल द वायर का नाम भी एफआइआर में शामिल है।देखे विडियों हमारे यूट्यूब चैनल के माध्यम से