नुसरत जहां ने बीजेपी को बताया कोरोना से ज्यादा खतरनाक, पार्टी ने किया पलटवार

नुसरत जहां ने बीजेपी को बताया कोरोना से ज्यादा खतरनाक
नुसरत जहां ने बीजेपी को बताया कोरोना से ज्यादा खतरनाक

नई दिल्ली: तृणमूल कांग्रेस की सांसद नुसरत जहां ने अपने संसदीय क्षेत्र बाशीरघाट में एक ब्लड डोनेशन कैंप में अपने संबोधन के दौरान एक प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी को कोरोना से ज्यादा खतरनाक कहा। वहीं दूसरी और बीजेपी को कोरोना से ज्यादा खतरनाक बताने को लेकर तृणमूल कांग्रेस सांसद नुसरत जहां पर पार्टी नेताओं ने पलटवार किया है। पश्चिम बंगाल में कुछ महीनों बाद होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी और तृणमूल के नेताओं ने ऐसे बयान आए दिन सुनने को मिल रहे है।

नुसरत जहां ने बीजेपी को बताया कोरोना से ज्यादा खतरनाक
नुसरत जहां ने बीजेपी को बताया कोरोना से ज्यादा खतरनाक

Crime की दुनिया का पर्दाफाश करती FIR || FIR SHOW

बीजेपी केवल कारोबार जानती हैं-

सांसद नुसरत जहां ने कहा था कि अपनी आंखें और कान खुले रखो क्योंकि आपके आसपास ऐसे कुछ लोग हो सकते हैं, जो कोरोना से भी ज्यादा खतरनाक हैं। क्या आपको पता है कि कोरोना से ज्यादा क्या खतरनाक है, वो बीजेपी है। क्योंकि उन्हें हमारी संस्कृति के बारे में पता नहीं है, क्योंकि वे मानवता को नहीं समझते। वे कठिन परिश्रम के मूल्य को नहीं समझते, वे केवल कारोबार करना ही जानते हैं। उनके पास अथाह दौलत है और वे यह धन हर जगह लुटा रहे हैं। साथ ही नुसरत ने कहा, बीजेपी धर्म के आधार पर लोगों को एक-दूसरे के खिलाफ खड़ा करती है और दंगे भड़काती है।

नुसरत जहां ने बीजेपी को बताया कोरोना से ज्यादा खतरनाक
नुसरत जहां ने बीजेपी को बताया कोरोना से ज्यादा खतरनाक

जगन्नाथ यात्रा में शामिल होकर बोलीं नुसरत- मैं पैदाइशी मुसलमान

वैक्सीन को लेकर घटिया स्तर की राजनीति-

बीजेपी की सोशल मीडिया टीम के हेड अमित मालवीय ने नुसरत जहां के इस बयान को लेकर बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला बोला है। मालवीय ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस के नेता तुष्टीकरण की राजनीति में लिप्त हैं। मालवीय ने ट्वीट कर कहा, “पश्चिम बंगाल में वैक्सीन को लेकर घटिया स्तर की राजनीति सामने आ रही है। ममता बनर्जी की कैबिनेट में शामिल एक मंत्री सिद्दीकिला चौधरी ने वैक्सीन को लेकर जा रहे एक ट्रक को ही रोक लिया। अब मुस्लिम बहुल देगांगा इलाके में प्रचार के दौरान तृणमूल सांसद बीजेपी की कोरोना से तुलना कर रही है, लेकिन ममता खामोश हैं, क्यों? तुष्टीकरण ?

 

 

Leave a comment

Your email address will not be published.