हरियाणा : ब्लैक फंगस मरीजों के लिए हर मेडिकल कालेज में 20 बेड्स की सुविधा

black fungus
black fungus

नई दिल्लीः हरियाणा में कोरोना महामारी के बीच ब्लैक फंगस के बढ़ते मामलों से सरकार चिंतित है। हरियाणा में ब्लैक फंगस के मरीजों के इलाज के लिए सभी मेडिकल कालेजों में 20-20 बेड के स्पेशल वार्ड तैयार कर दिए गए हैं। प्रदेश में अब तक ब्लैक फंगस के 115 मामले आ चुके हैं।

PM मोदी ने की मध्य प्रदेश मॉडल की सराहना, कोरोना से लड़ने में सक्षम

ब्लैक फंगस मामले

बता दें की प्रदेश सरकार ने सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों से कहा है कि सिविल अस्पतालों में ब्लैक फंगस के मामले सामने आने के बाद वह मरीज को मेडिकल कालेज में इलाज के लिए रेफर करें। वहां स्पेशलिस्ट डाक्टर ऐसे मरीजों का इलाज करेंगे।हरियाणा सरकार ने राज्य में ब्लैक फंगस के बढ़ते मामलों के चलते ‘हरियाणा महामारी रोग (म्यूकोर्मिकोसिस) विनियम 2021’ बनाया है।

स्टेरायड दवाइयों पर प्रतिबंध

नियमों का पालन नहीं करने पर दोषियों के खिलाफ महामारी रोग अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा ब्लैक फंगस के मामलों में लोगों द्वारा अपने आप ही दवाइयां लेने की शिकायताें के मद्देनजर प्रदेश सरकार ने बगैर डाक्टर की पर्ची के स्टेरायड दवाइयों की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है।

कोरोना संकट के बीच अब ISRO ने बनाए स्वदेशी ऑक्सीजन कंसंट्रेटर

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के निर्देश पर औषधि नियंत्रक ने यह आदेश जारी किए हैं। इसके साथ ही सरकारी और निजी अस्पतालों में दाखिल मरीजों को इलाज के लिए एम्फोटेरिसिन-बी इंजेक्शन के वितरण पर निर्णय लेने के लिए विशेषज्ञ समिति का गठन किया है।

 

Leave a comment

Your email address will not be published.