किसान आंदोलन से ही निकली आंदोलन स्थगित करने की आवाज

kisan andolan
kisan andolan

नई दिल्ली: देशभर में कोरोना महामारी हर दिन घातक रूप ले रही है. दूसरी लहर का असर अब किसान आंदोलन पर भी पड़ने लगा है। सिंघु बॉर्डर पर 2 किसानों की कोरोना के चलते मौत हो गई है। ऐसे में भारतीय किसान यूनियन के भोपाल सिंह ने कहा है कि ऐसे गंभीर हालातों में किसानों को आंदोलन वापस ले लेना चाहिए।

PM मोदी ने की मध्य प्रदेश मॉडल की सराहना, कोरोना से लड़ने में सक्षम

किसानों से अनुरोध

इस दौरान भोपाल सिंह ने कहा, ‘सिंघू बॉर्डर पर 2 किसानों की कोरोना से मौत हो गई। किसान ऐसे ही मरते रहे तो कौन आंदोलन करेगा? इसलिए मैं किसानों से अनुरोध करना चाहता हूं कि देश में संकट को देखते हुए हमें आंदोलन को फिलहाल के लिए स्थगित कर देना चाहिए। किसान बचे रहेंगे तभी हम अन्नदाता कहलाएंगे। हम तभी कहलाएंगे जब हम अपनी फसल और जान बचा पाएंगे। हम भविष्य में आंदोलन करेंगे, लेकिन अभी स्थिति ठीक नहीं है।

कोरोना संकट के बीच अब ISRO ने बनाए स्वदेशी ऑक्सीजन कंसंट्रेटर

दो किसानों की मौत

आपको बता दें की सिंघु बॉर्डर पर पटियाला निवासी बलबीर सिंह (50) और लुधियाना निवासी महिंदर सिंह (70) की मंगलवार को मौत हो गई। सोनीपत के मुख्य चिकित्सा अधिकारी जसवंत सिंह पूनिया ने बताया कि बलबीर को पिछले दो दिन से बुखार था। उन्होंने बताया कि बलबीर को सरकारी अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया और जांच में उसके संक्रमित होने की पुष्टि हुई।

 

Leave a comment

Your email address will not be published.