यूपी में चुनाव से पहले सियासी हलचल, BSP से निलंबित 11 विधायक बनाएंगे अपना नया दल

uttar pradesh politics
uttar pradesh politics

नई दिल्लीः यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले ही राजनीती में नए मोड़ देखने को मिल रहे है, बहुजन समाज पार्टी ( BSP ) से निलंबित 11 विधायक अब एक जुट हो गए हैं। इन सभी ने लालजी वर्मा के नेतृत्व में नया दल भी बनाने का फैसला कर लिया है।बसपा से निलंबित नौ विधायक लखनऊ में आज समाजवादी पार्टी में अखिलेश यादव से भी मिलने गए थे।

टूटने की कगार पर BSP

बता दें की बसपा में कुल 18 विधायकों में से नौ को पार्टी ने निलंबित और दो को निष्काषित किया।चुनाव से पहले ही बसपा पूरी तरह टूटने की कगार पर है और अब यह चर्चा जोरो पर है की सभी बागी विधायक बहुत जल्द सपा का दामन थाम कर आगामी विधानसभा चुनाव समाजवादी पार्टी के बैनर तले लड़ेंगे। राज्यसभा चुनाव में बसपा से बगावत करने के बाद निलंबन झेल रहे श्रावस्ती के विधायक असलम राईनी ने कहा कि बसपा के बागी सभी 11 विधायक मिलकर अपनी नई पार्टी बनाएंगे।

वैज्ञानिकों का दावा, Corona संक्रमण को खत्म कर देगा ये नया 3डी प्रिंटिंग मास्क, जानें

नया दल बनाने की तैयारी

इस दौरान राईनी ने बताया की हमारे नेता लालजी वर्मा होंगे। उनके साथ ही रामअचल राजभर भी हमारे साथ हैं। हम लोग तो लालजी वर्मा को अपनी पार्टी का मुखिया बनाएंगे। अभी हमारे पास एक विधायक की कमी है, जिसके कारण तत्काल नया दल नहीं बन पा रहा है। इस बीच अगर एक और विधायक साथ आया तो जल्द पार्टी बनाएंगे। पार्टी का नाम भी लालजी वर्मा को डिसाइड करना है।

बसपा सुप्रीमो मायावती से नहीं कोई शिकायत

पार्टी के राईनी का कहना है कि, उनकी बसपा सुप्रीमो मायावती से कोई शिकायत नहीं है, उनकी मुख्य शिकायत सतीश चंद्र मिश्रा से है।राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा का व्यवहार स्तरीय नहीं है। वह जितना कहते हैं मायावती सिर्फ उतना ही करती हैं। सभी 11 विधायकों को बहन मायावती से कोई नाराजगी नही है, सतीश चंद्र मिश्रा पार्टी को खाक में मिलाने में लगे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *