सीधी बस हादसा : अब तक 49 लोगों की गई जान, नहर से शवों की तलासी जारी

यात्रियों से भरी
यात्रियों से भरी

नई दिल्ली : मध्य प्रदेश के सीधी में एक बड़ा सड़क हादसा हो गया है। बस सीधी से सतना जा रही थी। रोड़ छोटी होने के कारण बस अनियंत्रित होकर नहर में जा गिरि गई। नहर से अब तक 49 शवों को बाहर निकाला जा चुका है। 7 यात्री रेस्क्यू किए गए हैं। नहर से शवों की तलासी को जारी रखा गया है।

5 लाख रुपए मुआवजा

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हादसे में मरने वालों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की है। जबलानाथ परिहार ट्रेवल्स की बस नंबर सीधी से सतना की ओर जा रही थी । कमलेश्वर सिंह बस के मालिक ने बस की फिटनेस और परमिट की जानकारी में कहा कि बस के सारे कागजाता पुरे है । जो सरकार के नियम के हिसाब से सही पाएगे हैा

सीधी बस हादसा
सीधी बस हादसा

बस में अधिक यात्री 

पुलिस बस में के 32 यात्री थे, जो बस की क्षमता से ज्याद थे। बस में करीब 60 यात्री थे। सीधी मार्ग पर छुहिया घाटी से होकर बस को सतना जाना था। लेकिन जाम लगे होने की वजह से ड्राइवर ने रूट बदल दिया। जिसकी वजह से वह नहर के किनारे संकरे रास्ते से बस ले जा रहा था। सीधी से 80 किलोमीटर का सफर तय करने के बाद चुरहट और रामपुर नैकिन पार करते ही बड़ा कस्बे के पास बस
अनियंत्रित होकर नहर में गीर गई।

एसडीआरएफ की टीम पहुंची

मौके पर रेस्क्यू के लिए एसडीआरएफ की टीम पहुंची है। गोताखोरों नहर में सर्च अभियान चला रहे हैं। नहर के पानी को कम करने के लिए सिहावल नहर के गेट खोल दिए गए हैं। साथ ही बाणसागर नहर के पानी को सिहावल नहर में भेजा जा रहा है। जिससे जल स्तर कम हो और लोगों को बचाया जा सके।

Leave a comment

Your email address will not be published.