वैक्सीन की कमी को पूरा करने के लिए मोदी सरकार का Master Plan जानें क्या है खास

वैक्सीन की कमी को पूरा करने के लिए मोदी सरकार का Master Plan जानें क्या है खास
वैक्सीन की कमी को पूरा करने के लिए मोदी सरकार का Master Plan जानें क्या है खास

नई दिल्ली : देश इस वक्त कोरोना संकट से गुजर रहा है। ऐसे में इस वायरस के कहर को कम करन के लिए वैक्सीनेशन प्रकिया चल रही है। ऐसे में वैक्सीनेशन प्रकिया की गति को तेज करने के लिए सरकार ने एक अहम फैसला लिया है।

 

वैक्सीन की कमी को पूरा करने के लिए मोदी सरकार का Master Plan जानें क्या है खास
वैक्सीन की कमी को पूरा करने के लिए मोदी सरकार का Master Plan जानें क्या है खास

जानिए वैक्सीन की पहली डोज के बाद आप कोरोना संक्रमित हो जाएँ तो दूसरी बार कब लें वैक्सीन

अब नहीं होगी टीके की कमी

सरकार अब देसी वैक्सीन के उत्पाद के लिए अन्य कंपनियों से भी संपर्क करने की योजना बना रही है। हाल ही में नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने कहा कि केंद्र सरकार ने वैक्सीन के प्रोडक्शन को बढ़ाने के लिए अन्य कंपनियों से बात करने का निर्णय लिया है। जिससे देश में वैक्सीनेश को रफ्तार दी जा सकें। उन्होंने आगे कहा कि हमने इस संबंध में जब भारत बायोटेक से बात की तो उन्होंने भी इस फैसले का स्वागत किया है।

योगी सरकार का अहम फैसला, अब UP में आधार कार्ड के बिना लगेगी वैक्सीन

दिसंबर तक 2 अरब वैक्सीन आ जाएगी

वीके पॉल ने आगे कहा कि हम उन सभी कंपनियों को खुला निमंत्रण देते हैं जो को वैक्सीन का मिलकर प्रोडक्शन बढ़ाना चाहती हैं। इससे हम इस कोरोना वायरस से चल रही जंग को जल्द ही जीत जाएंगें। आपको बता दें कि अभी तक देस में 45 साल या उससे अधिक उम्र के एक तिहाई लोगों को वैक्सीन लग चुकी हैं जो काफी राहत भरी खबर हैं।कोरोना की कमी से जूझ रहे कई राज्यों के लिए बड़ी खबर ये है कि अब अगस्त से दिसंबर तक देश में वैक्सीन की 2 अबर से अधिक खुराक उपलब्ध कराई जाएगी। जो देश के लोगों को पूरी तरह से वैक्सीन करने के लिए पर्याप्त है।

SEC ने की 2-18 आयुवर्ग के लिए कोवैक्सीन टीके के क्लिनिकल ट्रायल की मांग

सरकार ने दी वैक्सीन के बीच समय बढ़ाने को मंजूरी

भारत सरकार ने कोविशील्ड टीके की दो डोज लगवाने के बीच के समयांतर को 6-8 सप्ताह से बढ़ाकर 12-16 सप्ताह करने की कोविड-19 कार्य समूह की सफारिश को स्वीकार कर लिया है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को दो डोज के बीच समयांतर की घोषणा करते हुए उक्त बात बतायी। मंत्रालय ने कहा, लेकिन कोवैक्सीन के दो डोज के समयांतर (पहला और दूसरा डोज लगने के बीच का समय) में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

इस साल के अंत तक सभी को लगेगी वैक्सीन, सरकार ने पेश किया रोडमैप

उसने कहा, ‘‘वास्तविक समय के साक्ष्यों, विशेष रूप से ब्रिटेन से प्राप्त, के आधार पर कोविड-19 कार्य समूह कोविशील्ड टीके के दो डोज के बीच समयांतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह करने पर राजी हो गया है। कोवैक्सीन के दो डोज के बीच समयांतर में बदलाव की कोई सिफारिश नहीं की गयी है।’

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

वैक्सीन की कमी को पूरा करने के लिए मोदी सरकार का Master Plan जानें क्या है खास

वैक्सीन की कमी को पूरा करने के लिए मोदी सरकार का Master Plan जानें क्या है खास
वैक्सीन की कमी को पूरा करने के लिए मोदी सरकार का Master Plan जानें क्या है खास

नई दिल्ली : देश इस वक्त कोरोना संकट से गुजर रहा है। ऐसे में इस वायरस के कहर को कम करन के लिए वैक्सीनेशन प्रकिया चल रही है। ऐसे में वैक्सीनेशन प्रकिया की गति को तेज करने के लिए सरकार ने एक अहम फैसला लिया है।

 

वैक्सीन की कमी को पूरा करने के लिए मोदी सरकार का Master Plan जानें क्या है खास
वैक्सीन की कमी को पूरा करने के लिए मोदी सरकार का Master Plan जानें क्या है खास

जानिए वैक्सीन की पहली डोज के बाद आप कोरोना संक्रमित हो जाएँ तो दूसरी बार कब लें वैक्सीन

अब नहीं होगी टीके की कमी

सरकार अब देसी वैक्सीन के उत्पाद के लिए अन्य कंपनियों से भी संपर्क करने की योजना बना रही है। हाल ही में नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने कहा कि केंद्र सरकार ने वैक्सीन के प्रोडक्शन को बढ़ाने के लिए अन्य कंपनियों से बात करने का निर्णय लिया है। जिससे देश में वैक्सीनेश को रफ्तार दी जा सकें। उन्होंने आगे कहा कि हमने इस संबंध में जब भारत बायोटेक से बात की तो उन्होंने भी इस फैसले का स्वागत किया है।

योगी सरकार का अहम फैसला, अब UP में आधार कार्ड के बिना लगेगी वैक्सीन

दिसंबर तक 2 अरब वैक्सीन आ जाएगी

वीके पॉल ने आगे कहा कि हम उन सभी कंपनियों को खुला निमंत्रण देते हैं जो को वैक्सीन का मिलकर प्रोडक्शन बढ़ाना चाहती हैं। इससे हम इस कोरोना वायरस से चल रही जंग को जल्द ही जीत जाएंगें। आपको बता दें कि अभी तक देस में 45 साल या उससे अधिक उम्र के एक तिहाई लोगों को वैक्सीन लग चुकी हैं जो काफी राहत भरी खबर हैं।कोरोना की कमी से जूझ रहे कई राज्यों के लिए बड़ी खबर ये है कि अब अगस्त से दिसंबर तक देश में वैक्सीन की 2 अबर से अधिक खुराक उपलब्ध कराई जाएगी। जो देश के लोगों को पूरी तरह से वैक्सीन करने के लिए पर्याप्त है।

SEC ने की 2-18 आयुवर्ग के लिए कोवैक्सीन टीके के क्लिनिकल ट्रायल की मांग

सरकार ने दी वैक्सीन के बीच समय बढ़ाने को मंजूरी

भारत सरकार ने कोविशील्ड टीके की दो डोज लगवाने के बीच के समयांतर को 6-8 सप्ताह से बढ़ाकर 12-16 सप्ताह करने की कोविड-19 कार्य समूह की सफारिश को स्वीकार कर लिया है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को दो डोज के बीच समयांतर की घोषणा करते हुए उक्त बात बतायी। मंत्रालय ने कहा, लेकिन कोवैक्सीन के दो डोज के समयांतर (पहला और दूसरा डोज लगने के बीच का समय) में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

इस साल के अंत तक सभी को लगेगी वैक्सीन, सरकार ने पेश किया रोडमैप

उसने कहा, ‘‘वास्तविक समय के साक्ष्यों, विशेष रूप से ब्रिटेन से प्राप्त, के आधार पर कोविड-19 कार्य समूह कोविशील्ड टीके के दो डोज के बीच समयांतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह करने पर राजी हो गया है। कोवैक्सीन के दो डोज के बीच समयांतर में बदलाव की कोई सिफारिश नहीं की गयी है।’

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *