कश्मीरी छात्रों को पाकिस्तान देता है डिग्री, NIA राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने किया बड़ा खुलासा

राष्ट्रीय जांच एजेंसी
राष्ट्रीय जांच एजेंसी

नई दिल्ली: भारतीय राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने कश्मीरी छात्रों को लेकर बड़ा खुलासा किया है। एजेंसी ने दावा किया है कि पाकिस्तान उसकी तरफ झुकाव रखने वाले छात्रों को अपने यहां आसानी से पढ़ने का मौका देता है। वह अपने यहां उन छात्रों को डॉक्टर और इंजीनियर बनाता है जो भारत विरोधी सोच रखते हों या फिर उसके तार अलगावादी नेताओं से जुड़े हों।

पाकिस्तान के इस सांसद ने महज़ 14 वर्ष की नाबालिग बच्ची से रचाई शादी

पाक, आतंकियों और हुर्रियत के नेताओं के बीच गठजोड़

बता दें राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि आतंकियों, हुर्रियत और पाक के नेताओं के बीच एक गठजोड़ है। जिसके जरिए वह एक भारत विरोधी कश्मीरी छात्रों की पौध तैयार कर रहे हैं। इन लोगों को वह लोग डॉक्टर और इंजीनियर बना रहे हैं। वह ऐसा इसलिए कर रहे हैं ताकि कश्मीरियों को भारतीयों के खिलाफ भड़काया जा सके।

भारत विरोधी लोगों को देंगे एडमिशन

बता दें हुर्रियत नेता सैय्यद अली शाह गिलानी और उदारवादी नेता मीरवाइज मौलवी उमर फारुख पाकिस्तान में कश्मीरी छात्रों के एडमिशन कराते हैं। बता दें यह लोग सिफारिश करते हैं। इनकी सिफारिश कश्मीर के छात्रों को आसानी से दाखिला मिल जाता है। बता दें कि जितने भी छात्र पाकिस्तान में पढ़ने जाते हैं उनमें बड़ी संख्या में ऐसे लोग होते हैं जो या तो किसी आतंकवादी के साथ जुड़े हो या फिर किसी अलगाववादी या आतंकवादी के परिवार और रिश्तेदार हो। इसके अलावा यह नेता कश्मीर के पैसे वालों के बच्चों को पढ़ने के लिए पाकिस्तान भेजते हैं। जिनमें से मोटी रकम लेते हैं। इस रकम का इस्तेमाल देश विरोधी गतिविधियों में होता है।

पाकिस्तान गए 100 कश्मीरी युवक लापता, पहले भी गए लोगों को देखा गया आतंकी संगठनों में

370 को हटाया के बाद संख्या में आई भारी कमी

पाकिस्तान की इस साजिश का जैसे ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पता चला। उन्होंने तुरंत ही जांच एजेंसी को इसकी जांच करने के आदेश दे दिए। जांच एजेंसी ने अभी ऐसे लोगों पर कार्यवाही करना शुरु कर दिया है। जिसके बाद गुलाम कश्मीर और कश्मीर से पाकिस्तान जाने वाले लोगों की संख्या कम होना शुरु हो गई है। बता दें सरकार ने जबसे धारा 370 को हटाया है जबसे इनकी संख्या सीमित रह गई है। बता दें हुर्रियत नेताओं ने छात्रों की पढ़ाई के दाखिले के दुकान खोल रखी थी। वह भी बंद हो गई है।

आखिर कौन थी ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’, जिसके किरदार को पर्दे पर निभा रही हैं आलिया भट्ट?

Leave a comment

Your email address will not be published.