राम मंदिर निर्माण धन संग्रह का हिसाब रखेगा “धनुष ऐप” ऐसे चलायें

राम मंदिर
राम मंदिर

नई दिल्ली: अयोध्या में बन रहे भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए श्रीराम जन्मभूमि निधि समर्पण महाभियान का प्रबंधन “धनुष’ ऐप करेगा। इसमें एक-एक रसीद के बारे में रियल टाइम जानकारी होगी। यह ऐप इस अभियान के मद्देनजर विहिप ने विशेष रूप से तैयार कराया है। इसके जरिये राष्ट्रीय राजधानी में बनाए गए विशेष राष्ट्रीय निगरानी केंद्र को देशभर से नियमित जानकारियां प्राप्त होंगी। इसमें इस अभियान में लगी टोलियों के साथ ही संग्रह की गई धनराशि व अन्य जानकारियां होंगी।

अयोध्या में भव्य राममंदिर निर्माण को लेकर मकर संक्रांति से धन संग्रह का महाभियान शुरू होने जा रहा है। कुल 45 दिनों का यह अभियान माघ पूर्णिमा (27 फरवरी) तक चलेगा। इसमें राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री व विपक्ष के नेताओं के साथ ही मजदूर व किसानों से भी समर्पण निधि ली जाएगी। हर रामभक्त से सहयोग राशि ली जाएगी

राम मंदिर
राम मंदिर

मिलेगी हर रसीद की रियल टाइम जानकारी-

विहिप के संयुक्त महामंत्री सुरेंद्र जैन ने बताया कि इस अभियान के तहत देश के कुल साढ़े छह लाख में से सवा पांच लाख गांवों के 13 करोड़ से अधिक परिवारों के 65 करोड़ लोगों से संपर्क किया जाएगा। इसमें दस लाख टोलियों में 40 लाख से अधिक कार्यकर्ता लगेंगे। एक टोली में पांच कार्यकर्ता होंगे तथा हर चार टोलियों पर एक जमाकर्ता होगा।

हर जमाकर्ता द्वारा रोजाना पूर्व निर्धारित तीन बैंकों में जमा कराई गई राशि की जानकारी भी प्रतिदिन केंद्रीय समन्वय टीम को इस ऐप के माध्यम से मिलेगी। एकत्रित समर्पण निधि से राम मंदिर के साथ ही मंदिर परिसर में शोध के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर की लाइब्रेरी, आडिटोरियम, रामलीला व अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए आउटडोर स्टेडियम, धर्मशाला, भंडारा स्थल, खोदाई में मिले पुरातात्विक साक्ष्य प्रदर्शित करने के लिए संग्रहालय, राम मंदिर के लिए संघर्ष करने वालों को याद करने के लिए स्मारक भी बनाई जाएगी।

होंगे हस्ताक्षरयुक्त कूपन व रसीद-

श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के जीर्णाद्धार को लेकर ऐच्छिक समर्पण के लिए श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से 10, 100 व 1000 रुपयों के कूपन जारी किए गए हैं। इसके ऊपर की राशि पर रसीद दी जाएगी। वहीं, 20 हजार से अधिक की राशि अकाउंट पेई चेक या बैंक ट्रांसफर द्वारा ही स्वीकार्य होगी। कूपन व रसीद पर ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंददेव गिरि के हस्ताक्षर हैं।

राम मंदिर
राम मंदिर

इसमें प्रभु राम की एक हाथ में धनुष लिए और दूसरे हाथ से आशीर्वाद देती आदमकद तस्वीर, राम मंदिर का माडल व ट्रस्ट का लोगो भी छपा है। बिना रसीद या कूपन के कोई राशि नहीं ली जाएगी। इस अभियान के माध्यम से करोड़ों रामभक्तों का डाटा भी तैयार किया जाएगा। रसीद व कूपन देने के साथ समर्पणकर्ता का नाम, पता व मोबाइल नंबर संग्रहित किया जाएगा।

आज से शुरू होगा यह महाभियान-

विहिप सूत्रों के मुताबिक, मकर संक्रांति 14 जनवरी से दिल्ली में अभियान का शुभारंभ जूनापीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर अवधेशानंद गिरी जी महाराज तिमारपुर की संजय बस्ती में भिक्षा मांगकर शुरू करेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published.