राजधानी दिल्ली में कोरोना का कहर हो रहा कम, भारी संख्या में हो रही रिकवरी

अस्पताल
अस्पताल

नई दिल्ली : देश में कोरोना वायरस अपना कहर बरपा रहा है। जिससे राजधानी दिल्ली भी काफी प्रभावित हो गई है। रोजाना आ रहे संक्रमितों के मामलों के आंकड़ों से सरकार और जनता बेहाल है।

Delhi Live News : देश की राजधानी दिल्ली से आई अच्छी खबर, पहले स्टेज में प्लाज्मा थेरेपी कारगर

शुक्रवार को गई इतनी जानें

बीते 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना संक्रमण के दैनिक मामले लगभग 20 हजार के करीब आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार शुक्रवार को दिल्ली में 19,832 नए मामले दर्ज किए गए जबकि 341 मरीजों की इस वायरस से मौत हो गई।

 

राजधानी दिल्ली
राजधानी दिल्ली

राजधानी दिल्ली में सर्दी ने तोड़ा 22 साल का रिकॉर्ड,बढ़ा ठंड का कहर

बीते 24 घंटे में रिकवर हुए इतने हजार मरीज

इस वक्त राहत की खबर ये है कि रोजाना भारी संख्या में मरीज इस कोरोना को हरा रहे हैं। अगर बीते 24 घंटे की बात की जाए तो शुक्रवार को इस वायरस से रिकवर होने वाले मरीजों की संख्या 19,085 आई है। इसके साथ ही संक्रमण की दर 24.92 हो गई है।

राजधानी दिल्ली
राजधानी दिल्ली

दिल्ली में आज से शुरू होगा 18+ वालों का वैक्सीनेशन, 77 स्कूलों में लगा बूथ

राजधानी में ऑक्सीजन भरपूर

आपको बता दें कि शुक्रवार को सीएम अरविंद केरजीवालने अधिकारियों से कहा है कि अब ऑक्सीजन की आपूर्ति सुधरी है और संक्रमित मरीजों को चिकित्सकीय ऑक्सीजन की कमी नहीं होनी चाहिए।राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 की स्थिति पर बैठक के दौरान केजरीवाल ने जिलाधिकारियों को ऑक्सीजन सुविधा से युक्त बिस्तरों की संख्या बढ़ाने का भी निर्देश दिया ताकि दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत न हो।

राजधानी दिल्ली
राजधानी दिल्ली

आज से दिल्ली में नो एंट्री , सात दिन के लिए राजधानी के सभी बॉर्डर सील

इतने मरीज हैं आइसोलेट

केजरीवाल ने कहा कि तीन महीने के भीतर सभी योग्य लोगों के टीकाकरण का प्रयास होना चाहिए।उन्होंने जिलाधिकारियों को तैयारियों की समीक्षा के लिए टीकाकरण केंद्रों का भी औचक निरीक्षण करने का निर्देश दिया।दिल्ली सरकार द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में बताया गया कि जिलाधिकारियों द्वारा राष्ट्रीय राजधानी में गृह पृथक-वास में उपचाराधीन मरीजों को कुल 1,406 ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया कराए गए।दिल्ली सरकार के ताजा स्वास्थ्य बुलेटिन के मुताबिक 50,425 मरीज गृह पृथक-वास में हैं। शहर में उपचाराधीन मामलों की संख्या 91,035 है और 50,785 निषिद्ध क्षेत्र हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *