बिहार पुलिस : अफसरों पर की आपत्तिजनक टिप्पणी नहीं होगी बर्दाश्त

बिहार में सोशल मीडिया पर सख्ती
बिहार में सोशल मीडिया पर सख्ती

नई दिल्ली : बिहार में सोशल मीडिया पर अंट-शंट टिप्पणी को अब नहीं बक्शा जाएगा। बिहार में अगर कोई सोशल मीडिया यूजर किसी सांसद, विधायक या अफसर के खिलाफ अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल करता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। यह जानकारी बिहार पुलिस के आर्थिक अपराध इकाई के एडीजी के तरफ से जारी पत्र में दी गई हैं।

बिहार में सोशल मीडिया पर सख्ती
बिहार में सोशल मीडिया पर सख्ती

 

कानूनी तौर पर है जुर्म -बिहार पुलिस

साथ ही पत्र में बिहार पुलिस ने लिखा कि ऐसे कई मामले देखे गए हैं कि सोशल मीडिया पर सरकार, मंत्री, सांसद, विधायक एवं सरकारी पदाधिकारियों के संबंध अपमानजनक और भ्रामक भाषा का इस्तेमाल किया जाता है। यह कानूनी तौर पर जुर्म है और साइबर अपराध के अंतर्गत शामिल है। यदी ऐसा कोई भी मामला सामने आता है तो आर्थिक अपराध इकाई, बिहार, पटना को इसकी सूचना दें ताकि दोषियों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई की जा सके।

Maharashtra सुप्रीम कोर्ट में कानूनी जंग जीतने के लिए तैयार राजनीतिक पार्टियां

बिहार में सोशल मीडिया पर सख्ती
बिहार में सोशल मीडिया पर सख्ती

CM Yogi पहुंचे Lucknow RML Hospital || Vaccination Center का लिया जायजा ||

जेडीयू ने बिहार पुलिस के फैसले का स्वागत किया

वहीं, जेडीयू ने इस फैसले को स्वागत योग्य कदम बताया है। जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के ख़िलाफ़ सोशल मीडिया का दुरुपयोग किया जा रहा है, अभद्र भाषा और अपशब्दों का प्रयोग किया जाता है। हमारी सरकार ने इसे रोकने के लिए कदम उठाया है, जिसकी सराहना होनी चाहिए।

बिहार सरकार का गिरा पहला विकेट, शिक्षा मंत्री ने दिया इस्तीफा

 

बीजेपी ने सभी के लिए सोशल मीडिया पर एक नियम-क़ानून बनाने की मांग की
बीजेपी ने सभी के लिए सोशल मीडिया पर एक नियम-क़ानून बनाने की मांग की

बीजेपी ने सभी के लिए एक क़ानून बनाने की मांग की

जबकि, बीजेपी ने इस मुद्दे पर आर्थिक आपराधिक इकाई से स्पष्टीकरण मांगने की सलाह दी। प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा कि राजनीतिक कारणों से एक-दूसरे के चरित्र हनन करके सोशल मीडिया का दुरुपयोग हो रहा है। बीजेपी ने सभी के लिए सोशल मीडिया पर एक नियम-क़ानून बनाने की मांग की।

 

Leave a comment

Your email address will not be published.