बंगाल चुनाव : ममता बनर्जी का ऐलान, शुभेंदु अधिकारी के गढ़ नंदीग्राम से लड़ेंगी चुनाव

बंगाल चुनाव
बंगाल चुनाव

नई दिल्ली : पश्चिम बंगाल में इसी साल विधानसभा का चुनाव होना है। भारतीय जनता पार्टी और तृणमूल कांग्रेस के बीच राजनीतिक जंग जारी है। वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की मुखिया ममता बनर्जी ने सोमवार को नंदीग्राम में चुनावी सभा की, यहां उन्होने भारतीय जनता पार्टी पर निशाना भी साधा।

बंगाल चुनाव
बंगाल चुनाव

26 जनवरी की ट्रैक्टर रैली को लेकर SC का फैसला || Supreme Court 

बंगाल चुनाव में टीएमसी को मिलेगी बढ़त 

बता दें कि ममता बनर्जी की ओर से नंदीग्राम में एक चुनावी सभा में ही इसी का ऐलान किया गया है। साथ ही उन्होने कहा कि मैं चाहती हूं इस बार यहां से चुनाव लड़ूं, ममता बनर्जी ने कहा कि इस बार भी बंगाल में टीएमसी की सरकार बनेगी और टीएमसी को 200 से अधिक सीटें मिलेंगी।

बंगाल चुनाव
बंगाल चुनाव

पश्चिम बंगाल : गजेन्द्र सिंह शेखावत ने ममता पर बोला धावा, धोखाधड़ी का लगाया आरोप

बीजेपी कर रही पैसों का इस्तेमाल

साथ ही ममता बनर्जी ने यहां टीएमसी से बीजेपी में गए शुभेंदु अधिकारी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि नंदीग्राम का आंदोलन किसने किया, इसपर उन्हें किसी से ज्ञान लेने की जरूरत नहीं है। आज किसान भी आंदोलन कर रहे हैं और बीजेपी को तीनों कृषि कानून तुरंत वापस लेने चाहिए। टीएमसी के कई नेता बीते दिनों में पार्टी छोड़ बीजेपी की ओर गए हैं, इसपर ममता बनर्जी ने रैली में तंज कसा है। ममता बोलीं कि बीजेपी की ओर से पैसों का इस्तेमाल किया जा रहा है, इसी वजह से आज कई लोग उनकी तरफ जा रहे हैं। बीजेपी की ओर से कुछ लोगों को दिल्ली से ही डराया जा रहा है, ताकि उनका पलड़ा भारी हो सके।

बंगाल चुनाव
बंगाल चुनाव

पश्चिम बंगाल में साथ लड़ेंगे कांग्रेस-लेफ्ट, केरल में क्या करेंगे?

शुभेंदु अधिकारी पर निशाना साध रहे हैं TMC के नेता

बता दें कि भारतीय जनता पार्टी के शुभेंदु अधिकारी भी इसी इलाके से आते हैं, ऐसे में अब ममता बनर्जी ने ये ऐलान कर बीजेपी की काट कर दी है। टीएमसी के बड़े नेता जहां भी रैली कर रहे हैं, शुभेंदु अधिकारी को ‘विश्वासघाती’ और ‘मीरज़ाफर’ बताकर निशाना साध रहे हैं। शुभेंदु अधिकारी भी कहते हैं कि तृणमूल कांग्रेस का इतिहास लोगों को पता है। टीएमसी को अगर 1998 और 1999 में बीजेपी का साथ न मिला होता तो वो यहां तक नहीं पहुंच पाती।

Leave a comment

Your email address will not be published.