बंगाल चुनाव : पीएम मोदी के बंगाल दौरे के बाद हो सकता है चुनाव तिथि की घोषणा

बंगाल चुनाव
बंगाल चुनाव

नई दिल्लीः बंगाल में विधानसभा चुनाव को लेकर सियासत गर्म है। वहीं बंगाल में चुनाव तिथि की घोषणा कब होगी इस पर सब की निगाहें टिकी है। खबर आ रही है कि बंगाल में चुनाव का एलान 22 फरवरी के बाद हो सकता है। क्योंकि,22 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बंगाल के दौरे पर आ रहे हैं।

बंगाल चुनाव

जिसमें वह कई योजनाओं के उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे। इसके बाद ही चुनाव तिथि की घोषणा होने की बात कही जा रही है। बंगाल में वैसे भी विधानसभा चुनाव अप्रैल-मई में होते रहे हैं। निर्वाचन आयोग ने भी तैयारी करीब-करीब पूरी कर ली है। इधर, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी एक के बाद योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास कर रही हैं। क्योंकि चुनाव तिथि घोषित होते ही आचार संहिता लागू हो जाएगा।

बंगाल चुनाव
बंगाल चुनाव

ममता भी चुनावी सभा में पहले ही कह चुकी हैं कि जल्द ही मतदान की तिथि की घोषित हो सकती है और कार्यकर्ताओं को तैयार रहने को कहा है। ममता ने कुछ दिन पहले ही मालदा की रैली में कार्यक्रताओं से अपील करते हुए कहा था कि आगामी कुछ दिनों में चुनाव की घोषणा हो जाएगी। इसलिए आप सभी लोग तैयार रहें। माना जा रहा है कि आगामी सप्ताह चुनाव का एलान हो सकता है।

पार्टी बीजेपी का ‘खेल’ खराब कर सकती है

पश्चिम बंगाल में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव बेहद दिलचस्प हो सकते हैं. माना जा रहा है कि इस बार यहां तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी के बीच असली टक्कर होगी. लेकिन अब इस चुनाव में एक और नई पार्टी ने एंट्री का ऐलान कर दिया है. खास बात ये है कि ये पार्टी बीजेपी का ‘खेल’ खराब कर सकती है. दरअसल रविवार को हिंदू समहति नाम के एक संगठन ने एक नई पार्टी का ऐलान किया है. इस संगठन ने अपनी पार्टी का नाम जन समहति रखा है. इस पार्टी की नजर हिंदू वोटरों पर है. पार्टी ने ऐलान किया है कि वो बंगाल में कम से कम 170 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है.

Video Viral कर बोला बर्खास्‍त सिपाही, तीन दिन में तीन Murder कर दूंगा 

हिंदू समहति ने रविवार को अपना फाउंडेशन डे मनाया और इसी दिन बंगाल में चुनाव लड़ने का ऐलान भी कर दिया. इस संगठन की पैठ बंगाल के कई जिलों में है. खासकर बंगाल के दक्षिणी इलाकों में इसकी पकड़ खासी मजबूत है. साल 2008 में इस संगठन की स्थापना तपन घोष ने की थी. बता दें कि घोष राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पूर्व प्रचारक थे.

Leave a comment

Your email address will not be published.