फोन चोरी होने पर सता रहा है डेटा का खतरा, तो घर बैठे ऐसे करें डिलीट

फोन चोरी
फोन चोरी

नई दिल्ली: फोन चोरी, आज के समय में देश में करोड़ों की तादात में फोन यूजर्स हैं। फोन का इस्तेमाल भी बहुत ज्यादा जरूरी हो गया है। आज-कल के दौर में फोन का इस्तेमाल सिर्फ कॉलिंग या मैसेज भेजने के लिए ही नहीं होता है। बल्कि इसका इस्तेमाल अन्य बहुत से कार्यो के लिए किया जाता है। कंपनियों द्वारा स्मार्टफोन में दिए जाने वाले फीचर्स और टेक्नोलॉजी के चलते आज फोन मिनी कंप्यूटर बन गया है।

फोन चोरी

इसी से यूजर्स अपने बैंकिंग से जुड़े कार्य करते हैं। फोन में शानदार कैमरा होने की वजह से फोटो और वीडियो भी बनाए जाते हैं। अच्छे सॉफ्टवेयर के चलते ऑफिस या बिजनेस से जुड़े दस्तावेज भी इसी में रहते हैं। ऐसे में अगर आपका फोन कहीं खो जाता है तो डेटा चोरी का खतरा आपको को सताने लगता है।

घर बैठे ऐसे करें फोन का डेटा डिलीट

रेलवे भर्ती: 10वीं पास के लिए निकली 2500 से ज्यादा भर्तियां, बिना परीक्षा के होगा चयन

फ़ोन में मौजूद डेटा का इस्तेमाल कैसे रोके

फोन में बहुत जरूरी सामग्री होती है। निजी फोटोज हो सकते हैं और बैंक से जुड़ी जानकारियां। जिसके चलते चोर पैसों की चपत भी लगा सकता है। अब बात आती है कि फोन में मौजूद इस डेटा का इस्तेमाल होने से कैसे रोका जाएगा। आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि फोन तो चोर के पास है तो ऐसे में दूर बैठे हुए कैसे फोन पर या उस डेटा पर नियत्रंण रखा जाएगा। जी हां हम आपके इस सवाल का जवाब देते हुए अपने डेटा को दूर बैठे हुए ही डिलीट करने का तरीका बता रहे हैं।

घर बैठे ऐसे करें फोन का डेटा डिलीट

ऑनलाइन बैठे हुए डिलीट करें डाटा

सबसे पहले आप किसी कंप्यूटर या दूसरे फोन पर जाकर इंटनरेट ओपन करना होगा। इंटरनेट ओपन करने के बाद यूजर को इंटरनेट ब्राउजर https://mydevices.google.com पर जाना होगा। यह लिंक खुलने के बाद यूजर को लॉगिन करने का ऑप्शन नजर आएगा। इसके बाद आपको उसी जीमेल आईडी से लॉगिन करना है, जिसे आपने अपने पुराने फोन यानी कि चोरी हुए फोन में लॉगिन किया हुआ था। इस सुविधा के लिए आपके चोरी हुए फोन में भी इंटरनेट का ऑन होना जरूरी है।

यह है प्रोसेस

जब यूजर एक बार लॉगिन कर लेगा तो उसके बाद यूजर को प्ले साउंड, सिक्योर डिवाइस और इरेज डिवाइस आदि जैसे विकल्प नजर आएंगे। अपने चोरी हुए फोन में मौजूद जरूरी डेटा को डिलीट करने के लिए यूजर को इरेज डिवाइस का चयन करना होगा। इसका चयन करने के बाद यूजर से उसकी जीमेल आईडी का पासवर्ड मांगा जाएगा। जब यूजर एक बार जीमेल आईडी का पासवर्ड दर्ज कर लेंगे तो उसके बाद यूजर के चोरी हुए फोन का सभी जरूरी डेटा डिलीट हो जाएगा। यह प्रोसेस तभी काम कर पाएगा जब फोन का इंटरनेट चालू होगा, अन्यथा यह प्रोसेस पूरा नहीं हो पाएगा।

इस शख्स ने लगवाई 1 अरब 74 करोड़ रुपए की आंख 

Leave a comment

Your email address will not be published.