पुडुचेरी में नारायणसामी की सरकार के लिए बड़ा दिन, आज होगा विश्वास मत

पुडुचेरी
पुडुचेरी

नई दिल्ली : पुडुचेरी में नारायणसामी की सरकार के लिए और बड़ा संकट पैदा हो गया है। दरअसल, कांग्रेस-द्रमुक गठबंधन के दो और विधायकों ने रविवार को इस्तीफा दे दिया। विधानसभा में 22 फरवरी को बहुमत साबित करने से पहले मुख्यमंत्री वी नारायणसामी के लिए यह एक और बड़े झटके के रुप में देखा जा रहा है। कांग्रेस के विधायक के. लक्ष्मीनारायणन और द्रमुक के विधायक वेंकटेशन के इस्तीफा देने के बाद 33 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस-द्रमुक गठबंधन के विधायकों की संख्या घटकर 11 हो गई है, जबकि विपक्षी दलों के 14 विधायक हैं। लक्ष्मीनारायणन और वेंकटेशन ने विधानसभा अध्यक्ष वी. पी. शिवकोलुंधु को उनके आवास पर अपना इस्तीफा सौंपा।

UP : बजट सत्र शुरू, पहले ही दिन सपा ने किया हंगामा, बागी विधायक स्पीकर से मिले

पुडुचेरी
पुडुचेरी

दिल्ली : सागरपुर में लगवाई गई मास्ट लाइट || सुभाषनगर में खुला जूता बैंक

जरूरतों को पूरा नहीं कर पा रहा था

इसके बाद लक्ष्मीनारायणन ने पत्रकारों से कहा, ‘नारायणसामी नीत सरकार ने बहुमत खो दिया है।’ लक्ष्मीनारायणन ने कहा कि उन्होंने पार्टी की सदस्यता से भी इस्तीफा दे दिया है। वेंकटेशन ने पत्रकारों से कहा कि उन्होंने केवल विधायक पद से इस्तीफा दिया है और वह द्रमुक का हिस्सा बने रहेंगे। उन्होंने कहा, ‘मैं अपने निर्वाचन क्षेत्र में अपने लोगों की जरूरतों को पूरा नहीं कर पा रहा था, क्योंकि विधायक स्थानीय क्षेत्र विकास निधि के तहत धन का आवंटन नहीं किया गया है।’

पुडुचेरी
पुडुचेरी

योगी आदित्यनाथ ने छात्रों को दिया बड़ा गिफ्ट, अभ्युदय कोचिंग का शुभारंभ

पुडुचेरी में जल्द चुनाव

पूर्व मंत्री ए नमसिवायम और मल्लाडी कृष्ण राव समेत कांग्रेस के चार विधायकों ने इससे पहले इस्तीफा दिया था, जबकि पार्टी के एक अन्य विधायक को अयोग्य ठहराया गया था। नारायसामी के करीबी ए. जॉन कुमार ने भी इस सप्ताह इस्तीफा दे दिया था। पुडुचेरी की नवनियुक्त उप राज्यपाल तमिलिसाई सौंदर्यराजन ने 22 फरवरी को विधानसभा का सत्र बुलाया है, जिस दौरान विश्वास मत के जरिए नारायणसामी सरकार का भविष्य निर्धारित होगा। इसे लेकर नारायणसामी ने रविवार को विधायकों के साथ रणनीति भी बनाई। पुडुचेरी में बहुत जल्द चुनाव होने वाले हैं।

पुडुचेरी
पुडुचेरी

नीति आयोग: PM मोदी की अध्यक्षता में छठी बैठक शुरु, जानें कौन से मुद्दे पर होगी बात

कोयंबटूर के लिए रवाना किरण बेदी

वहीं आपको बता दें कि पुडुचेरी के उपराज्यपाल के पद से हटाए जाने के कुछ दिन बाद किरण बेदी रविवार को कोयंबटूर के लिए रवाना हो गईं, जहां से वह दिल्ली के लिए उड़ान भरेंगी। राज निवास कर्मियों ने उन्हें विदाई दी। राज निवास से जाने से पहले उन्होंने र्किमयों से कहा कि वह पुडुचेरी की समृद्धि की कामना करती हैं। पूर्व आईपीएस अधिकारी बेदी के जाने के बाद तेलंगाना की राज्यपाल तमिलिसाई सौंदरराजन पुडुचेरी के उपराज्यपाल पद का अतिरिक्त प्रभार संभाल रही हैं। सौंदरराजन ने पुडुचेरी की उपराज्यपाल के रूप में 18 फरवरी को कार्यभार संभाला था, लेकिन बेदी रविवार तक राज निवास में रहीं।

Leave a comment

Your email address will not be published.