पिछले छह वर्षों में भारत का सोलर उत्पादन क्षमता 13 गुना बढ़ गई है- पीएम मोदी

India's solar production capacity has increased 13 times in the last six years- PM Modi

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री मोदी आज केरल में बिजली और शहरी क्षेत्रों की कई प्रमुख परियोजनाओं का वीडियों कॉन्फ्रेंस के जरिए लोकार्पण किया। शिलान्यास के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 50 मेगावाट कासरगोड सोलर परियोजना का उद्घाटन किया गया। साथ ही पिछले छह वर्षों में भारत का सोलर उत्पादन क्षमता 13 गुना बढ़ गई है। पीएम मोदी 320 केवी पुगलुर (तमिलनाडु)- त्रिशूर (केरल) बिजली पारेषण परियोजना का भी उद्घाटन किया।

India’s solar production capacity has increased 13 times in the last six

योगी सरकार का बेरोजगारों के लिए बड़ा तोहफा, जल्द शुरु होने वाली हैं हजारों भर्तीयां

5,070 करोड़ रुपए की लागत से बनी है ये परियोजना

बता दें कि यह अत्याधुनिक हाई वोल्टेज डायरेक्ट करंट परियोजना है। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि त्रिशूर केरल का एक महत्वपूर्ण सांस्कृतिक केंद्र है और अब यह विद्युत ऊर्जा का भी केंद्र होगा। यह परियोजना राज्य की बढ़ती बिजली मांगों को पूरा करने के लिए बड़ी मात्रा में बिजली के हस्तांतरण की सुविधा प्रदान करेगी। यह परियोजना 5,070 करोड़ रुपए की लागत से बनी है। इससे पश्चिमी क्षेत्र से 2000 मेगावाट बिजली भेजने की सुविधा मिलेगी और केरल में बिजली की मांग को पूरा किया जा सकेगा।

250 एकड़ क्षेत्र में फैला है ये परियोजना

पीएम मोदी ने कहा कि अब विश्वसनीयता के साथ बिजली तक पहुंच होगी। घरों और औद्योगिक इकाइयों को बिजली की आपूर्ति के लिए इंट्रा-स्टेट ट्रांसमिशन नेटवर्क को मजबूत करना बेहद जरूरी है। पीएम मोदी ने 50 मेगावाट की कसारगोड सौर ऊर्जा परियोजना भी राष्ट्र को समर्पित किया। इस परियोजना को राष्ट्रीय सौर ऊर्जा मिशन के तहत विकसित किया गया है। केंद्र सरकार ने कसारगोड़ जिले में 250 एकड़ में तैयार इस परियोजना में लगभग 280 करोड़ रुपये का निवेश किया है।

पीएम ने कहा 37 किलोमीटर की मौजूदा सड़कों को विश्व स्तरीय स्मार्ट सड़कों में बदला जाएगा

प्रधानमंत्री तिरुवनंतपुरम में एकीकृत कमान और नियंत्रण केंद्र की आधारशिला भी रखी। तिरुवनंतपुरम में एकीकृत कमान और नियंत्रण केंद्र के निर्माण पर 94 करोड़ रुपये की लागत आएगी। इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी ने तिरुवनंतपुरम में स्मार्ट सड़कों की परियोजना का भी शिलान्यास किया। इसके निर्माण में 427 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। इस परियोजना के तहत तिरुवनंतपुरम में 37 किलोमीटर की मौजूदा सड़कों को विश्व स्तरीय स्मार्ट सड़कों में बदला जाएगा।

मरने के बाद मंदिर निर्माण के लिए दान किए अपने गहने || Ornaments donated to Ram temple after death ||

Leave a comment

Your email address will not be published.