पश्चिम बंगाल में बीजेपी दफ्तर पर हमला, TMC को ठहराया जिम्मेदार

West Bengal Bankura
West Bengal Bankura

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल इन दिनों काफी सुर्खीयां बटोर रहा है। आये दिन यहां कुछ नया देखने व सुनने को मिल रहा है। विधानसभा चुनावों के दौरान कल रात बांकुरा के बीजेपी दफ्तर से बडी खबर सामने आ रही है। खबर है कि कल रात वहां पर हमला हो गया, जिसके बाद दफ्तर को आग भी लगा दी गई ।बीजेपी ने इस हमले के लिए विपक्ष को आरोपी बताया।

पश्चिम बंगाल में जहां एक तरफ विधानसभा चुनाव चल रहे हैं. दूसरी तरफ हिंसक घटनाएं भी लगातार सामने आ रही हैं। कल बीती शाम बंगाल से हिंसा की एक बड़ी घटना सामने आई. दरअसल, बांकुरा में ताजपुर गांव में बने बीजेपी दफ्तर पर शुक्रवार देर रात बड़ा हमला हो गया।

West Bengal Bankura
West Bengal Bankura

TMC पहुंची EC के दफ्तर ‘मतुआ समुदाय के मंदिर जाकर मोदी ने तोड़ी आचार संहिता

BJP ने TMC पर साधा निशाना

इसके बाद दफ्तर को आग लगाकर राख कर दिया गया। इस घटना के बाद बीजेपी का कहना है इस पूरी घटना के लिये तृणमूल कांग्रेस जिम्मेंदार है. बीजेपी का कहना है कि टीएमसी के गुंडों ने ही उनके पार्टी दफ्तर पर हमला किया. इस हमले में बीजेपी का एक कार्यकर्ता भी गंभीर रूप से घायल हुआ है, जिसे बांकुरा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है. बीजेपी का आरोप है कि शुक्रवार रात को टीएमसी के 100 से ज्यादा गुंडे आए और उन्होंने हमला कर दिया. इन गुंडों के हाथ में हथियार भी थे. इस पूरे मामले के बाद इलाके में काफी तनाव है. पुलिस और भारी सुरक्षाबल को भी यहां तैनात कर दिया गया है.

हमले में बीजेपी कार्यकर्ता घायल

आगे बीजेपी ने यह भी कहा कि ताजपुर गांव के लोग पिछले 10 साल से वोट नहीं डाल रहे थे, लेकिन इस बार गांववालों ने खुद आगे आकर वोट डाला. यही कारण है कि टीएमसी के गुंडों ने वोटिंग के बाद प्लानिंग कर हमला किया. हालांकि, टीएमसी ने इन आरोपों को खारिज किया है. टीएमसी का कहना है कि बीजेपी ने राजमाधवपुर में उनके कार्यकर्ताओं पर हमला किया, जिसमें दो कार्यकर्ता गंभीर रूप से जख्मी हुए हैं.

अमजद की गिरफ्तारी की मांग

हमले के विरोध में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने बांकुरा-दुर्गापुर स्टेट हाईवे पर प्रदर्शन किया. उन्होंने टीएमसी नेता अमजद की गिरफ्तारी की मांग की है. प्रदर्शन के दौरान बीजेपी ने सड़कों पर टायर भी जलाए. साथ ही चेतावनी भी दी है कि जब तक अमजद को गिरफ्तार नहीं किया जाता, तब तक वो सड़क से नहीं हटेंगे. बीजेपी नेता सुजी अगस्ती का कहना है कि “पुलिस उनकी मदद कर रही है. हमने कई बार उनकी शिकायत की, लेकिन पुलिस ने किसी भी टीएमसी नेता को गिरफ्तार नहीं किया.” वहीं, टीएमसी के जिला अध्यक्ष श्यामल संतरा ने इसे बीजेपी की अंदरूनी लड़ाई बताया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *