ट्रैक्टर रैली: गणतंत्र दिवस परेड़ के बाद ही रैली की ईजाजत- दिल्ली पुलीस

ट्रैक्टर रैली
ट्रैक्टर रैली

नई दिल्ली: किसान आन्दोलन कर अपना रोष ट्रैक्टर रैली के रूप में निकाल रहे किसानों को सरकार और प्रशासन से ईजाजत मिलन के बाद किसान अब ट्रैक्टर रैली को जोर शोर से कामयाब करने पर लग गए हैं। कृषि सुधार कानूनों का विरोध कर रहे किसानों को लंबी जद्दोजहद के बाद पुलिस ने कुछ शर्तों के साथ राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली निकालने की इजाजत दे दी है। 26 जनवरी को राजपथ पर गणतंत्र दिवस परेड खत्म होने के बाद किसान दिल्ली के तय रूटों पर ही ट्रैक्टर रैली निकाल सकते है। सिर्फ सिंघु, टीकरी और गाजीपुर बाॅर्डर पर रैली निकालने की इजाजत मिल गई है।

ट्रैक्टर रैली निकालने की इजाजत इन रूटों पर

सरकारी ने किसानों को सिंघु बार्डर पर 62 किलोमीटर, गाजीपुर बार्डर पर 46 किलोमीटर और टीकरी बार्डर पर 63 किलोमीटर में परेड निकालने की इजाजत दी है। तीनों बार्डरों से रैली का 100 किलोमीटर से ज्यादा का रूट दिल्ली में ही होगा। अधिकतर इलाके दिल्ली की सीमा के पास के ही है। सरकार के अधिकारियोंं ने परेड के रूटों को लेकर पांच-छह बार किसान संगठनों के साथ बैठक की है। जिस के बाद फाइनल तीन रूटों पर रैली की इजाजत मिल गई है। रैली के दौरान चप्पे-चप्पे पर पुलिस की तैनाती रहेगी, जिससे शांति व्यवस्था बनाए जा सके। पुलिस ने किसान नेताओं से लिखित में आश्वासन ले लिया है जिस से वह शर्तों के साथ रैली कर सकते है। किसानों ने भी अनुशासित तरीके से तय रूटों पर ट्रैक्टर रैली की हामी भरी है।

कई राज्यों से पहुंच रहे ट्रैक्टर

परेड में शामिल होने के लिए कई राज्यों से ट्रैक्टर लेकर किसानों का दिल्ली की सीमाओं पर पहुंचने का सिलसिला जौरो पर है। पुलिस की जानकारी के मुताबिक टीकरी बार्डर पर अभी तक करीब आठ हजार, सघु पर पांच हजार और गाजीपुर बार्डर पर एक हजार ट्रैक्टर पहुंच चुके हैं।

ट्रैक्टर रैली
ट्रैक्टर रैली

पुलिस अलर्ट मोड़ पर

रैली में गड़बड़ी फैलाने की पाकिस्तान की साजिश का भी पुलिस को पता चला गया है। पूरी दिल्ली को हाई अलर्ट पर कर दिया है। किसान नेताओं ने रैली में एक लाख से अधिक ट्रैक्टर शामिल होने का बताया है। अधिकतर रूटों पर दिल्ली पुलिस सीसीटीवी कैमरे लगाने की कोशिश कर रही है। वही पुलिस गणतंत्र दिवस समारोह के दिन ट्रैक्टर रैली शांतिपूर्वक संपन्न कराने की कौशीश में जूट गई है। पुलिस ने सभी सीमाओं पर अभी से सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। साथ ही पड़ोसी देश इंटरनेट मीडिया का सहारा ले कर माहौल को खराब करने की कौशीश कर रहा है। उसने 308 ट्विटर अकाउंट बनाए हैं, जिस से वह गड़बड़ी फैला सके। लिहाजा पुलिस ने सुरक्षा के बेहद कड़े बंदोबस्त किए हैं।

Ghazipur Border के लिए किसानों की कूच करने की तैयारी 

Leave a comment

Your email address will not be published.