खुलासा : गिद्ध भोजन की तलाश में रोजाना तय करते हैं 150 KM तक की दूरी

खुलासा-गिद्ध-भोजन-की-तलाश
खुलासा-गिद्ध-भोजन-की-तलाश

नई दिल्ली: गंभीर रूप से लुप्त होते जा रहे गिद्धों के निवास, गतिविधियों एवं आदतों पर लगातार बारीकी से किए जा रहे अध्ययन से पता चला है कि गिद्ध ऐसा पक्षी है जो अपने भोजन की तलाश के लिए अक्सर रोजाना लगभग 150 किलोमीटर की दूरी उड़ कर तय कर लेते हैं।

खुलासा-गिद्ध-भोजन-की-तलाश
खुलासा-गिद्ध-भोजन-की-तलाश

दरअसल वन विभाग के एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए कहा कि मध्यप्रदेश के पन्ना बाघ अभयारण्य में कुछ गिद्धों पर लगे रेडियो ट्रैकिंग उपकरणों के विश्लेषण के जरिए यह बात सामने आई है। वहीं पन्ना बाघ अभयारण्य के क्षेत्र संचालक उत्तम कुमार शर्मा ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि हम अभी गिद्धों पर रेडियो ट्रैकिंग उपकरण लगाकर गिद्धों के निवास, गतिविधियों एवं आदतों पर बारीकी से अध्ययन कर रहे हैं।

खुलासा-गिद्ध-भोजन-की-तलाश
खुलासा-गिद्ध-भोजन-की-तलाश

100 से 150 किलोमीटर की दूरी-

इस अध्ययन से हमें पता चला है कि ये पक्षी अपने भोजन की तलाश के लिए अक्सर रोजाना लगभग 100 से 150 किलोमीटर की दूरी उड़ कर तय करते हैं। उनकी गतिविधियों की निगरानी के उद्देश्य से पिछले साल नवंबर में इन पक्षियों पर यह उपकरण लगाए गए थे।और इन पर किए गए अध्ययन में पाया गया कि कई बार ये गिद्ध भोजन की तलाश में पन्ना से पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश तक उड़ान भरते हैं और शाम को वापस घर भी लौट आते हैं।

खुलासा-गिद्ध-भोजन-की-तलाश
खुलासा-गिद्ध-भोजन-की-तलाश

कचरा साफ करने में काफी महत्व-

जानकारी के लिए आपको बता दें कि बदला लेने वाले पक्षी के रुप में मशहूर गिद्ध की प्रजाति मरे हुए जानवरों को खाती है। और इसलिये कचरा साफ करने में इसका काफी महत्व है। परन्तु लगभग दो दशकों से इस प्रजाति के विलुप्त होने का खतरा लगातार बढता जा रहा है। वहीं भारत में 99.7 प्रतिशत गिद्ध मर चुके हैं और बचे हुए 0.3 प्रतिशत गिद्धों को भी दो दशक पहले विलुप्त होने के खतरे का सामना करना पड़ा था, जिसके बाद उनके संरक्षण के लिए ये कदम उठाए गए है।

Leave a comment

Your email address will not be published.