किसान आंदोलन : सीसीटीवी फुटेज से हिंसा करने वालों की पहचान करने में जुटी पुलिस

किसान आंदोलन
किसान आंदोलन

नई दिल्ली। कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में गणतंत्र दिवस पर शांतिपूर्ण ट्रैक्टर रैली के दौरान हुए बवाल के बाद दिल्ली में कड़ी सुरक्षा के इंतेज़ाम किये गए है। किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के संबंध में दिल्ली पुलिस ने अब तक 22 एफआईआर (FIR) दर्ज की हैं। इनमें से ईस्टर्न रेंज में 5 एफआईआर दर्ज की गई हैं। आज भी दिल्ली में कई रास्ते बंद हैं। दिल्ली में किसानों के उग्र प्रदर्शन के अराजक हो जाने के बाद हुई हिंसा में कम से कम 86 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

किसान आंदोलन
किसान आंदोलन

Farmers at Red Fort: लाल किले पर किसानों का कब्जा, किसानों ने फहराया अपना झंडा

राकेश टिकैत का वयान

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि जिसने झंडा फहराया वो कौन आदमी था? एक जाती को बदनाम करने की साज़िश पिछले 2 महीने से चल रही है। कुछ लोग को बहकाया गया है ,उन्हें आज ही यहां से जाना होगा। जो आदमी हिंसा में पाया जाएगा उसे स्थान छोड़ना पड़ेगा और उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।

किसान आंदोलन
किसान आंदोलन

ITO पर बवाल ,लाल किले पर पहुंचे किसान || Ruckus on ITO, Farmers Entered Red Fort

सुरक्षा के कढ़े इंतेज़ाम

दिल्ली में कल किसान ट्रैक्टर रैली के दौरान आईटीओ इलाके में हुई हिंसा के बाद आज आईटीओ में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। गाज़ीपुर मंडी, नेशनल हाइवे-9 और नेशनल हाइवे-24  को बंद कर दिया है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने अपील है कि है कि जिसे दिल्ली से गाज़ियाबाद जाना है वह कड़कड़ी मोड़, शाहदरा और DND का प्रयोग करें। दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर सुरक्षाबल तैनात किये गाये है। दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का विरोध-प्रदर्शन जारी है। राष्ट्रीय राजधानी के लाल किले में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। प्रदर्शनकारियों के एक समूह ने कल किले के पोल पर चढ़कर अपना झंडा फहराया था।

कल हुए बवाल के बाद आज सिंघु बॉर्डर पर बड़ी संख्या में सुरक्षाबल तैनात हैं। कृषि कानूनों के खिलाफ सिंघु बॉर्डर पर किसान विरोध-प्रदर्शन जारी है।

Leave a comment

Your email address will not be published.