किसान आंदोलन में जा रहे थे, टोल प्लाजा पर कर दी तोड़फोड़।

किसान आंदोलन
किसान आंदोलन

दादरी: आगामी गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली निकाली जाएगी। इसके लिए 21 जनवरी से दिल्ली कूच की तैयारी की जा रही है। रविवार को दिल्ली जाने का उद्देश्य रोड मेप तैयार करना है। दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे आंदोलन में शामिल होने जा रहे किसानों ने रविवार को दादरी के लुहारली टोल प्लाजा पर तोड़फोड़ कर दी। जिस लेन से वे बिना शुल्क दिए निकलना चाह रहे थे उस लेन पर मरम्मत कार्य चल रहा था। टोल कर्मियों ने दूसरे टोल से जाने के लिए कहा तो किसान भड़क गए। किसानों ने टोल मशीनों को क्षति पहुंचाई और विरोध करने पर तोड़फोड़ कर दी। सभी लेन को टोल फ्री कर दिया गया। किसानों ने करीब 20 मिनट तक जमकर उत्पात मचाया।

किसान आंदोलन: 15 कारों में सवार किसान-

टोल कर्मियों के मुताबिक, रविवार दोपहर करीब डेढ़ बजे बुलंदशहर की ओर से 15 कारों में सवार किसान टोल पर इकट्ठे हो गए। किसानों ने हरे रंग की टोपी लगा रखी थी। लुहारली टोल के छह नंबर बूथ पर मरम्मत का कार्य चल रहा था। किसान अपने वाहनों को जबरन उसी बूथ से बिना टोल दिए निकालने लगे। जब किसानों से दूसरे बूथ से वाहन निकलनेे के लिए कहा गया तो वे नाराज हो गए। किसानों ने वजन मापने वाले सिस्टम व लाइनों में लगे सेंसर को तोड़ दिया।

किसान आंदोलन
किसान आंदोलन

लुटेरे आशिक की कहानी, पहले प्यार फिर सजा 

किसान टोल पर तैनात कर्मचारियों से गाली गलौच कर मारपीट पर उतारू हो गए। सभी टोल बूथ को फ्री कर दिया गया जिससे करीब 45 मिनट तक वाहन बिना टोल दिए गुजरते रहे। तोड़फोड़ व मशीनरी को क्षति पहुंचाने से करीब छह लाख रुपये के नुकसान हुआ। वहीं, टोल कर्मियों का आरोप है कि टोल पर तैनात पुलिस कर्मियों ने भी उत्पात मचा रहे किसानों को नहीं रोका। जब से किसानआंदोलन शुरू हुआ तब से टोल पर पीएसी भी तैनात है।

भारतीय किसान यूनियन-

टोल प्रबंधन की तरफ से देर शाम तक कोई तहरीर नहीं दी गई। टोल प्लाजा के शिफ्ट इंचार्ज सचिन कुमार का कहना है कि जिन गाड़ियों में किसान तैनात थे, उन पर भारतीय किसान यूनियन (टिकैत मोर्चा) लिखा हुआ था। जब से किसान आंदोलन शुरू हुआ है तब से किसान तीन से चार बार टोल फ्री करा चुके हैं। 29 नवंबर को इसी तरह का विवाद होने पर किसानों ने टोल फ्री करा दिया था। इसके बाद 7 व 15 दिसंबर को टोल को फ्री करा दिया। इससे काफी आर्थिक नुकसान हुआ।

लुहारली टोल प्लाजा के टोल प्रबंधक बताते हैं की दिल्ली जा रहे किसानों ने टोल प्लाजा पर जमकर उत्पात मचाया। 45 मिनट में सैकड़ों वाहन बिना टोल दिए गुजरते रहे। उपकरणों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। करीब छह लाख रुपये का आर्थिक नुकसान हुआ है।

Leave a comment

Your email address will not be published.