बर्ड फ्लू: कानपुर में चिड़ियाघर के सभी पक्षियों को मारने का आदेश

कानपुर चिड़ियाघर के सभी पक्षियों को मारने के आदेश
कानपुर चिड़ियाघर के सभी पक्षियों को मारने के आदेश

नई दिल्ली: देश में कोरोना के बाद अब बर्ड फ्लू का खतरा मंडरा रहा है। लखनऊ चिड़ियाघर के पक्षियों में बर्ड फ्लू के वायरस मिलने के बाद चिड़ियाघर के बर्ड सेक्शन को अनिश्चित काल के लिए बंद कर दिया गया है। वहीं कानपुर प्रशासन ने सभी पक्षियों को मारने का आदेश दे दिया है। दरअसल यहां पर कुछ पक्षियों में बर्ड फ्लू के वायरस पाये गए हैं, जिसके बाद कानपुर चिड़ियाघर को सील कर दिया गया है।

कानपुर चिड़ियाघर के सभी पक्षियों को मारने के आदेश
कानपुर चिड़ियाघर के सभी पक्षियों को मारने के आदेश

भारत में देखा गया दुर्लभ गोल्डन टाइगर – देखें Viral Video

सभी पक्षियों को मारने के आदेश-

इसके साथ ही कानपुर प्रशासन ने बाड़े के पक्षियों को भी मारने के आदेश चिड़ियाघर प्रशासन को दिए हैं। बता दें कि इस चिड़ियाघर में दो दिनों में दस पक्षियों की मौत हुई थी जिनमें से चार पक्षियों के के सैंपल जांच के लिए लेब्रोटरी भेजे गए थे। जिसकी रिपोर्ट में चारों पक्षियों में बर्डफ्लू के वायरस पाए गए हैं। भोपाल की लैब से रिपोर्ट मिलने के बाद हड़कंप मच गया है। अगले आदेश तक चिड़ियाघर सील कर दिया गया है। देर रात डीएम की आपातकालीन बैठक में हाई अलर्ट घोषित किया गया है। चिड़ियाघर के 7 बाड़ों में बाड़ों में कुल 935 पक्षी मौजूद है। इसमें चार प्रजातियों के 301 तोते, तीन मकाऊ तोते, 110 बत्तख, चार पटियाला पाउल, 22 पिनटेल, बर्ड एवरी में लगभग 255 पक्षी है।

कानपुर चिड़ियाघर के सभी पक्षियों को मारने के आदेश
कानपुर चिड़ियाघर के सभी पक्षियों को मारने के आदेश

हम तो पूछेंगे में आज हमारे साथ हैं कांग्रेस नेता और पूर्व सांसद डॉ. उदित राज

संक्रमण की शुरुआत-

चिड़ियाघर में बुधवार को दो जंगली मुर्गों समेत चार पक्षियों की मौत हो गई थी। सैंपल भोपाल रिसर्च सेंटर भेजे गए थे। अगले ही दिन एहतियातन चिड़ियाघर में बीमारी के लक्षण वाले छह रेड जंगल फाउल मुर्गे (जंगली मुर्गे) मार दिए गए। पक्षीयों के बाड़े भी दर्शकों के लिए अगले आदेश तक बंद कर दिए गए थे। डायरेक्टर सुनील चौधरी ने डॉक्टरों की आपात बैठक बुलाकर बचाव की तैयारियों शुरू करा दी थीं। सभी अस्पतालों को अलर्ट किया गया है। मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और सेनेटाइजेशन जरूरी है। बर्ड फ्लू कोरोना जैसा घातक संक्रमण है। इसकी मृत्यु दर भी अधिक है। कोविड गाइड लाइन का पालन करें और पक्षियों से दूर रहें।

कानपुर चिड़ियाघर में सभी पक्षियों को मारने का आदेश
कानपुर चिड़ियाघर में सभी पक्षियों को मारने का आदेश

देश में बर्ड फ्लू से बढ़ी दहशत, केरल में मारे जाएंगे हज़ारों पक्षी

यह पक्षी हैं चिड़ियाघर में-

चिड़ियाघर के सहायक निदेशक अरविन्द सिंह ने बताया कि जू के 7 बाड़ों में 935 पक्षी है। इसमें चार प्रजातियों के 301 तोते, तीन मकाऊ तोते, 110 बत्तख, चार पटियाला पाउल, 22 पिनटेल, बर्ड एवरी में लगभग 255 पक्षी है।

Leave a comment

Your email address will not be published.