आसाराम के बाद कोरोना की चपेट में गुरमीत राम रहीम, भक्तों की लगी भीड़

नई दिल्ली : कोरोना की ये दूसरी लहर जेल में बंद लोगों पर भी अपना प्रकोप दिखा रही है। पहले आसाराम और अब रोहतक जेल में बंद डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम की तबीयत बिगड़ गई जिसके कारण उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

कोरोना की चपेट में गुरमीत राम रहीम, गुनाह इतना संगीन है कि सरकार चाह कर भी नहीं दे सकती पेरोल
कोरोना की चपेट में गुरमीत राम रहीम, गुनाह इतना संगीन है कि सरकार चाह कर भी नहीं दे सकती पेरोल

बलात्कारी राम रहीम ने बिना शर्त पैरोल की याचिका वापस ली

क्या है मामला

गुरमीत राम रहीम की तबीयत बिगड़ने के बाद पहले उसका कोरोना टेस्ट कराया गया और जब रामरहीम की रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो उसे रोहतक PGI अस्पताल के वीआईपी वार्ड में भर्ती कराया गया है।

 

आसाराम के बाद कोरोना की चपेट में गुरमीत राम रहीम, भक्तों की लगी भीड़
आसाराम के बाद कोरोना की चपेट में गुरमीत राम रहीम, भक्तों की लगी भीड़

रेवेन्यू डिपार्टमेंट की रिपोर्ट के बाद राम रहीम की पैरोल की अर्जी हो सकती है खारिज

लगी भक्तों की भीड़

जब राम रहीम के भक्तों को पता चला कि गुरमीत सिंह को अस्पताल में भर्ती कराया गया तो वहां पर भक्तों की भड़ी लग गई। इसलिए अधिकारियों ने अस्पताल बाहर सुरक्षा कड़ी कर दी है।

आसाराम के बाद कोरोना की चपेट में गुरमीत राम रहीम, भक्तों की लगी भीड़
आसाराम के बाद कोरोना की चपेट में गुरमीत राम रहीम, भक्तों की लगी भीड़

बता दें राम रहीम हरियाणा की जेल हत्या और बलात्कार की सजा के बाद बंद है। राम रहीम के वकील ने पिछले साल कोरोना काल में पेरोल के लिए सरकार से गुजारिश की थी लेकिन कोर्ट ने उसकी अर्जी को खारिज कर दिया।राम रहीम ने अपनी तबीयत और कोरोना संक्रमण के मद्देनजर पेरोल के लिए अर्जी दाखिल की थी। बता दें कि कई राज्य सरकारों ने कोरोना संक्रमण के मद्देनजर जेल में बंद कैदियों को सशर्त पेरोल दी है। लेकिन, राम रहीम को गुनाह इतना संगीन है कि सरकार चाह कर भी उसे पेरोल नहीं दे सकती।

लखनऊ: नहर में गिरी बारातियों से भरी बस, कई लोग लापता, CM योगी ने लिया संज्ञान 

साल 2017 से है जेल में बंद

बता दें कि गुरमीत राम रहीम को दो महिलाओं से रेप मामले में अगस्त 2017 में 20 साल कैद की सजा मिली थी। पंचकुला में CBI की विशेष अदालत ने इस साल जनवरी में उसे और 3 अन्य दोषियों को एक पत्रकार की हत्या के 16 साल पुराने मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *