दुनिया की सबसे अनोखी परंपरा, जिंदा लोगों को किया जाता है दफन

बूजी फेस्टिवल
बूजी फेस्टिवल

नई दिल्ली : ऐसे तो दुनिया के हर देश में अलग-अलग परंपराएं होती है। परन्तु आज हम आपको एक इसी एक चौका देने वाली परंपरा के बारे में बताने जा रहे है। जिसमें जिंदा इंसान को जमीन में दफना दिया जाता है।

बूजी फेस्टिवल
बूजी फेस्टिवल

किसान नेता Rakesh Tikait पर गाजीपुर थाने में दर्ज हुआ केस। FIR against Farmers

जिंदा व्यक्ति को दफनाने कि प्रथा-

दरअसल ये प्रथा क्यूबा में बूजी फेस्टिवल के नाम से मनाई जाती है। त्योहार में जिंदा व्यक्ति को दफना दिया जाता है। उतना ही नहीं किसी को ताबूत में बंद करके उसे शहर की सड़कों पर घुमाया जाता है। इसके साथ ही ताबूत के पीछे-पीछे उसके रिश्तेदारों और दोस्तों समेत कई लोगों की भीड़ चलती है। सभी लोग शराब के नशे में तालियां बजाते और नाचते गाते चलते हैं। सिर्फ इतना ही नहीं सफेद बालों वाली एक महिला उस शख्स की विधवा भी बनती है।

बूजी फेस्टिवल
बूजी फेस्टिवल

अलग-अलग परंपराएं-

जानकारी के लिए बता दे कि क्यूबा में ये त्योहार पिछले 30 सालों से लगातार मनाया जाता है। इसका नाम ब्यूरियल ऑफ पचैंचो है। वैसे तो ये त्योहार किसी को ‌जिंदा दफनाने के लिए होता है लेकिन यहां के नजारे को देखकर आपको लगेगा जैसे कोई शादी हो रही हो क्योंकि जितने लोग भी इस जिंदा आदमी की शव यात्रा पर जाते है सभी एंजोय कर रहे होते हैं। बता दें कि इस त्योहार की शुरुआत साल 1984 में हुई थी। इसे स्‍थानीय कार्निवाल के समाप्त होने और एक नए जन्म के संकेत के आधार पर माना जाता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.